समाचार साहित्य - संस्कृति

अलख कला समूह का 10 दिवसीय नाट्य प्रशिक्षण शुरू

गोरखपुर , 2 जून। अलख कला समूह द्वारा आयोजित 10 दिवसीय नाट्य कार्यशाला शिविर आज मुंशी प्रेमचंद पार्क में शुरू हुआ।कार्यशाला में एक दर्जन से अधिक प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।
कार्यशाला मेँ प्रसिद्ध जन नाटककार राजराम चौधरी प्रशिक्षण दे रहे हैं। अलख कला समूह की यह तीसरी नाट्य कार्यशाला है। वर्ष 2008 मेँ अलख कला समूह का गठन शहर के रंगकर्मियों और संस्कृति कर्मियों ने किया था।
कार्यशाला के शुभारंभ के मौके पर प्रेमचंद साहित्य संस्थान के सचिव मनोज कुमार सिंह, राजेश साहनी, प्रदीप कुमार, सुजीत श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।
20170602_113807
मनोज सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा नाट्य विधा जनता से संवाद का सशक्त माध्यम है। अलख कला समूह नाटक के जरिये जनता मेँ चेतना लाना चाहता है।
राजेश साहनी ने नाटक को एक सामूहिक कला बताते हुए बच्चो को सवेदनशील व् कल्पनाशील बताया और कहा कि उनको प्रोत्सहित कर रचनात्मक कार्यो को आगे बढ़ाया जाना चाहिए। ।
सुजीत श्रीवास्तव ने कहा कि अलख कला समूह जन नाट्य यानी जनता के लिए किए जाने वाले नाटक को प्रोत्साहित करेगा।
प्रदीप कुमार ने दुष्यंत कुमार जन गीत ‘ इस अहले सियासत का अंधेरा मिटाइए , हो सके तो अब कोई शमा जलाइए ‘ गया। राजराम चौधरी ने ‘ हमन हैं इक मस्ताना ‘ गया।
इस दौरान अलख कला समूह के सचिव बैजनाथ मिश्र, सयुंक्त सचिव बेचन सिंह पटेल, सुभाष मोर्य, बिपिन सिंह, अरुण प्रकाश पाठक, कुसुम, उत्सव पाल, राधा, नीरज, दीपाली, सुष्मिता, सुमिरन, पल्लवी पटेल आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment