समाचार

ईवीएम हटाने की मांग को लेकर 72 घंटे का धरना-प्रदर्शन

गोरखपुर , 26 मार्च। ईवीएम हटाने की मांग को लेकर भारत मुक्ति मोर्चा ने देश के 31 राज्यो के 550 जिलों में 25,  26 आर 27 मार्च को 72 घंटे का धरना-प्रदर्शन शुरू किया है। इस आंदोलन में भागीदारी करते हुए गोरखपुर जिला मुख्यालय पर
पूर्वांचल सेना, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, राष्ट्रीय अत्याचार निवारक शक्ति, पासी एकता मंच , शक्ति मुक्ति महासंग्राम सहित तमाम संगठनो ने धरना -प्रदर्शन किया ।
धरना -प्रदर्शन में आए लोगो को संबोधित करते हुए पूर्वांचल सेना अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशो की अहवेलना कर बिना वीवीपीएटी लगाये कराये गए 2017 के चुनाव को रद्द होना चाहिए । उन्होंने कहा कि आयोग ने केवल 20 जगहों पर वीवीपीएटी लगाकर खानापूर्ति की है, जो की लोकतंत्र के साथ धोखा है ।

023f9e0c-62fc-4744-8b4b-0ef0e52743c2

एडवोकेट विक्रम दास ने कहा कि दुनिया के विकसित राष्ट्रों ने ईवीएम को प्रतिबंधित कर रखा है। इन सारी बातों के बाद भी आयोग द्वारा चुनावो में ईवीएम का प्रयोग खास दलों को लाभ पहुचाने की सोची समझी साजिश है।
दिलीप कुमार सुमन ने कहा कि लोकतंत्र भारत की आत्मा है और निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव से ही लोकतंत्र मजबूत होता है, परंतु देश में ईवीएम प्रयोग कर चुनावो में धांधली कर लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास है, हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे ।
धरने का नेतृत्व एडवोकेट अनिल कुमार ने किया । इस अवसर पर छात्र नेता सोनू सिद्धार्थ, पुष्पा वर्मा, शुशीला भारती, रिया भारती, बासमती, किताबी देवी, मैना देवी, अन्नपूर्णिमा, मंजू देवी, सारिका देवी, धीरेन्द्र प्रताप अमर सिंह पासवान, गणेश शंकर सैथवार, रमेश निषाद, राजू कुमार, अमित कुमार, परमेश्वर निषाद, सचिदानंद यादव, बुद्ध प्रकाश गौतम, यशवंत, धर्मेश, सोमनाथ भारती, रमाकांत, परमेश्वर निषादसर्वजीत चौहान, हरिलाल गौतम, अजीत कुमार ,सचिन पासवान, राकेश निषाद, ज्ञानेश्वर पाल, जगदीश नारायण यादव, रमेश थापा, दीपक कुमार, गणेश शंकर सैथवार, अशोक सैथवार समेत भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे ।

Add Comment

Click here to post a comment