Uncategorized समाचार

उत्पीड़न और ड्यूटी के मुद्दे पर होमगार्डों का तीन दिवसीय हड़ताल शुरु

गोरखपुर, 1 अक्तूबर। पूरे साल निरंतर ड्यूटी लगाए जाने तथा अपने प्रदेश अध्यक्ष मुकेश द्विवेदी पर लगे झूठे आरोप तथा फर्जी मुकदमे वापस लिए जाने सहित कई अन्य मांग को लेकर होमगार्डों ने शनिवार से तीन दिवसीय हड़ताल शुरु कर दी।

दो सौ से भी अधिक होमगार्ड शनिवार को जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे और उन्होंने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए सभा भी की। सभा को संबोधित करते हुए कहा कि होमगार्डों ने कहा कि उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। उनकी ड्यूटी नहीं लगाई जाती है। कुछ लोगों की ड्यूटी लगाई जाती है, तो उसके एवज में उनसे रकम वसूली जाती है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का आदेश बिल्कुल साफ है, लेकिन शासनादेश जारी नहीं किया जा रहा है। प्रदेश सरकार को होम गार्डों की ड्यूटी की व्यवस्था के लिए उचित व्यवस्था करनी चाहिए। सभा को संबोधित करते हुए गणेश दत्त शुक्ला ने कहा कि होमगार्ड अधिकारियों द्वारा होमगार्ड का शोषण चरम पर है। जब कोई होमगार्ड इसका विरोध करता है, तो अधिकारी उसे विभिन्न रूप से दंडित अथवा प्रताड़ित करते हैं । होमगार्ड अब अधिकारियों का उत्पीड़न सहने को तैयार नहीं हैं। होम गार्डों को शत प्रतिशत ड्यूटी मिलना चाहिए।  यह उनका अधिकार है। इस मौके पर अनूप कुमार ओझा ने कहा कि उनके प्रदेश अध्यक्ष होमगार्डो के उत्पीड़न के विरोध में आवाज बुलंद करते रहते हैं जिसके विरोध में उन पर फर्जी मुकदमा दर्ज किया गया है। फर्जी मुकदमे को लेकर प्रदेश सरकार से बातचीत हुई जिसमें प्रदेश सरकार ने जल्द ही उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया लेकिन लंबे समय बीत जाने के बाद भी किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। फर्जी मुकदमे को लेकर प्रमुख सचिव होमगार्ड, डीजी होमगार्ड, डीआईजी होमगार्ड, आई जी पुलिस से भी वार्ता हुई लेकिन फर्जी मुकदमे को वापस नहीं लिया गया। उन्होंने कहा कि उनकी सभी मांगे सरकार और होम गार्डों के हित में है जिसको लेकर उन्होंने तीन दिवसीय हड़ताल आरंभ किया है। आंदोलन के इसी क्रम में 4 अक्टूबर को होमगार्ड लखनऊ के हजरतगंज निकट स्थित गांधी प्रतिमा के पास अनिश्चितकालीन आमरण अनशन करेंगे।

इस मौके पर उपाध्यक्ष गणेशदत्त शुक्ला, कोषाध्यक्ष महेंद्र नाथ चतुर्वेदी, विजय यादव, सरोज, गीता, जितेंद्र पाल, रामजी, जय प्रकाश, अनिल यादव, सुरेश, दूध नाथ तिवारी सहित मौजूद रहे।⁠⁠⁠⁠