समाचार

गोरखनाथ मंदिर पहुंचे मदरसा शिक्षक, सीएम आदित्यनाथ से नौकरी स्थायी करने की मांग की

  • 19
    Shares

गोरखपुर, 22 अप्रैल। मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों ने शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर स्थित कार्यालय में सीएम योगी आदित्यनाथ को संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन कार्यालय प्रभारी द्वारिका तिवारी को सौंपा और शिक्षको की नौकरी स्थायी करने की मांग की।

मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक संघ के बदरे आलम अंसारी ने मांग किया कि मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को स्थायी करने के साथ ही केंद्र सरकार के बराबर उप्र सरकार द्वारा अंशदान दिया जायें।  केंद्र सरकार से लम्बित एक-एक, दो-दो साल का बकाया मानदेय दिलाया जायें। प्रतिमाह मानदेय दिए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जायें और इन शिक्षकों को प्रतिवर्ष डायट द्वारा ट्रेनिंग देने की व्यवस्था की जायें।
डा. मधु शाही ने कहा कि केंद्र पुरोनिर्धारित मदरसा (एसपीक्यईएम )आधुनिकीकरण योजना के अन्तर्गत उप्र के लगभग 6726 मदरसों में यह योजना संचालित हैं।जिसमें लगभग 20000 शिक्षक मदरसों आधुनिक विषयों की शिक्षा विगत 1998 से देते चले आ रहे हैं। पिछली सरकारों द्वारा इन शिक्षकों पर ध्यान नहीं दिया गया जिस वजह से यह शिक्षक भूखमरी के कगार पहुंच गये हैं। कई सालों का मानदेय भी बकाया हैं। मानदेय साल गुजरने के बाद ही मिलता हैं। छह और बारह हजार रुपया मानदेय में यह शिक्षक गुजारा कर रहे हैं। यदि  सरकार इन शिक्षकों की समस्याओं के प्रति कोई उचित कदम नहीं उठाती हैं तो रोजी-रोजी का घोर संकट उत्पन्न हो सकता हैं और मदरसों में आधुनिक विषयों की शिक्षा प्रभावित भी हो सकती हैं।
इस मौके पर नवेद आलम, मोहम्मद आजम, इस्लाम, फैयाज, अवधेश, जुनेद आलम, मो. गौस, शादाब, आरिफ, प्रमोद, महजबी, रामनिवास, फखरुद्दीन आदि शिक्षक मौजूद रहे।⁠⁠⁠⁠