समाचार

गोरखपुर के चिड़ियाघर में रखे जायेंगे 200 वन्य जीव, वन मंत्री ने अगले वर्ष तक काम पूरा करने को कहा

  • 6
    Shares
गोरखपुर,  23 अक्टूबर। वन, पर्यावरण, जन्तु उद्यान मंत्री दारा सिंह चौहान ने आज गोरखपुर में बन रहे अशफाकउल्लाह खां प्राणी उद्यान का स्थलीय निरीक्षण किया. उन्होंने प्राणी उद्यान को दिसम्बर २०१८ तक पूरा कर लेने के निर्देश दिया.
वन मंत्री को अफसरों ने बताया कि प्राणी उद्यान का क्षेत्रफल 121.34 एकड़ है जिसमें वन्य जीव हेतु 34 बाड़ों का निर्माण किया जाना है. इसमें 30 प्रजाति के वन्य जीव -बाघ, बब्बर शेर, लेपर्ड, भालू, गेन्डा, बारा सिंघा, काला हिरन, चीतल, सांभर, जेबरा, दरियाई घोड़ा, घड़ियाल आदि रखे जायेंगे। इस परियोजना की कुल लागत रू0 11366.54 लाख है जिसमें रू0 4329.60 लाख रुपया अवमुक्त किया गया है और  रू0 3009.99 लाख व्यय किया जा चुका है।
RSCN0309
निर्माण कार्यों की धीमी प्रगति पर वन मंत्री ने असंतोष व्यक्त करते हुए कार्यों में तेजी लाने का निर्देश दिया। निरिक्षण के बाद सर्किट हाउस में बैठक कर मंत्री ने  सभी कार्यों को मानक के अनुरूप कराते हुए दिसम्बर 2018 तक पूर्ण कराने का निर्देश दिया। बताया गया कि प्राणी उद्यान के मास्टर प्लान को भारत सरकार द्वारा अनुमोदन दिया जा चुका है. प्राणी उद्यान गोरखपुर में विभिन्न प्राणी उद्यानों से 200 विभिन्न प्रजातियों के वन्य जीवों को लाया जायेगा।
इस अवसर पर प्रधान मुख्य वन्य संरक्षक वन्य जीव उ0प्र0 एस.के. उपाध्याय, मुख्य वन संरक्षक व सदस्य सचिव राज्य प्राणी उद्यान प्राधिकरण उ0प्र0 सुनील पाण्डेय, मुख्य वन संरक्षक गोरखपुर मण्डल आर. हेमन्त कुमार, प्रभागीय वनाधिकारी एन.के. जानू, अपर परियोजना प्रबंधक राजकीय निर्माण निगम गिरीश चतुर्वेदी एंव अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।