समाचार

गोरखपुर में आंबेडकर प्रतिमा स्थल को भगवा रंग में रंगने का विरोध

दलित संगठनों और अधिवक्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर काम रूकवाया

गोरखपुर। आंबेडकर चौक पर स्थित डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा और उसके गोलम्बर की छत को भगवा रंग में रंगने के काम को आंबेडकरवादी संगठनों ने आज रोक दिया। आंबेडकरवादी संगठनों ने मौके पर पहुंच कर विरोध प्रदर्शन किया और कहा कि सरकार का यह प्रयास निंदनीय है।

शहर के कचहरी चैराहे पर डाॅक्टर भीम राव आंबेडकर की प्रतिमा स्थापित है। यह चैराहा आंबेडकर चैराहा कहा जाता है। इस समय शहर की कई महापुरूषों की प्रतिमा स्थल का जीर्णो़द्धार और सुन्दरीकरण का कार्य चल रहा है। यह कार्य शहर के एक प्रसिद्ध ज्वेलरी व्यवसायी द्वारा कराया जा रहा है। इसी के तहत आंबडेकर प्रतिमा स्थल का भी जीर्णोद्धार व सुन्दरीकरण हो रहा है।

आज कुछ दलित अधिवक्ताओं ने देखा कि आंबेडकर प्रतिमा के गोलम्बर की छत को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। यह जानकारी उन्होंने दलित अधिवक्ता संगठनों व आंबेडकरवादी संगठनों को दी। इसके बाद दोपहर में कई संगठनों से जुड़े अधिवक्ता, दलित कार्यकर्ता मौके पर पहुंच गए और आंबेडकर प्रतिमा स्थल को भगवा रंग में रंगने का विरोध करने लगे। निर्माण कार्य करा रहे ठेकेदार ने बताया कि उसे इसी रंग में रंगने का निर्देश मिला है।

आंबेडकर प्रतिमा 2

अधिवक्ताओं ने प्रतिम स्थल को भगवा रंग में रंगने के काम को तत्काल रोकने को कहा। अधिवक्ताओं के कहने पर फिलहाल काम रोक दिया गया है।
विरोध प्रदर्शन करने वाले संगठनों में आंबेडकर जागरण मंच, एससी एसटी अधिवक्ता संघ, आंबेडकरवादी अधिवक्ता संघ, आबेडकर विचार मंच प्रमुख थे। इनसे जुड़े कार्यकर्ताओं व अधिवक्ताओं-चन्द्रशेखर, इंजीनियर विक्रम प्रसाद, भजुराम, संजय प्रकाश सत्यम, सुनील कुमार भारती, रामजतन, श्याम मिलन एडवोेकेट, भीमसेन एडवोकेट, वृजेन्द्र कुमार, चन्द्रेश कुमार, शैलेन्द्र कुमार बौद्ध, ओम प्रकाश, अनिल कुमार, राम सागर, श्रीप्रकाश गौतम, विजय कुमार आदि ने विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।