समाचार

गोरखपुर में बाढ़ से 584 गांव प्रभावित, 6 लोगों की जान गई

गोरखपुर, 25 अगस्त. गोरखपुर जिले में 15 दिन से बाढ़ जमी हुई है.  बाढ़ से 303 गांव मैरुंड हैं तो 584 गांवों की 3.5 लाख की जनसंख्या बाढ़ से प्रभावित है. शासन व प्रशासन के बाढ़ से पूर्व इससे निपटने की तैयारी नही होने के कारण बाढ़ से बड़े स्तर पर जन व धन की हानि हुई है.
IMG_20170821_141834गोरखपुर में अबतक 472.85 मिमी बारिश हुई है लेकिन यहां बारिश के पानी ने नही बल्कि नेपाल से निकलने वाली नदियों के पानी ने जिले में बाढ़ से तबाही मचा कर 1998 में आए बाढ़ की तस्वीर को एक बार फिर से लोगों के सामने ला दिया। इस वर्ष आई बाढ़ ने जिले के 584 गांवों पर कहर बरपाया तो वहीं तों 303 गांव पूरी तरह से मैरुंड हो गए। जिससे 3.5 लाख की आबादी सहित लगभग 18 हजार छोटे बड़े जानवरों को बाढ़ ने प्रभावित किया।
IMG_20170821_142816
बाढ़ से 144 पक्के व 479 कच्चे मकान व 688 झोपड़ियां पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई हैं। 54014.803 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि बाढ़ की आगोश में शमा गई तो वहीं 31169.438 हेक्टेयर में बोयी हुई फसल बर्बाद हो गई। अबतक 6 लोगों ने बाढ़ से जान गंवाई है।
IMG_20170821_142338
बाढ़ आने के बाद बचाव कार्य में शासन-प्रशासन के साथ ही सेना व एनडीआरएफ के जवानों ने मोर्चा संभाला हुआ है। जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 86 चौकियां स्थापित की गई हैं। 29 राहत वितरित केंद्र बनाए गए हैं तो वहीं 43 राहत शिविर संचालित किए जा रहे हैं जिसमें 21333 लोंगों ने शरण ली है। बाढ़ में फंसे लोगों के रेक्स्यू एवं उनतक राहत पहुंचाने के लिए 520 नाव, 29 मोटर बोट व 12 वाहन लगाए गए हैं। पीएसी की 3 प्लाटून फ्लड बटालिय एवं एनडीआरएफ की 7 टीमें लगाई गई हैं। साथ ही सेना की मदद ली जा रही है। बाढ़ प्रभावित लोगों के उपचार के लिए 46 मेडिकल टीम का गठन किया गया है जो अबतक 11482 लोगों का इलाज कर चुकी है।

Leave a Comment