साहित्य - संस्कृति

चंद्रशेखर पांडे ” अफ़रोज़ ” की किताब ” दरख्शां ” का विमोचन

बगहा (पश्चिम चम्पारण ), 22 नवम्बर. चंपारण अदबी मंच के बैनर तले डी एम एकेडमी बगहा के परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में चंद्रशेखर पांडे ” अफ़रोज़ ” की किताब ” दरख्शां ” का विमोचन किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता बगहा के एस डी एम  घनश्याम मीणा ने किया जबकि मुख्य अतिथि के रूप में एस पी बगहा डाक्टर अरविंद कुमार गुप्ता मौजूद रहे। अतिविशिष्ट अतिथि के रूप में एस डी जे एम अमरेश कुमार सिंह , मुंसिफ वसीम अकरम खान साहब न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) फिरोज़ अकरम साहब उपस्थित रहे.

संचालन अब्दुल गफ्फार और अविनाश पांडे ने संयुक्त रुप से किया।
इस किताब के लेखक  चंद्रशेखर पांडे ” अफ़रोज़ ” अमेरिका में प्रोजेक्ट इंजीनियर हैं। वह यहाँ आबाई गांव यमुना पूर बगहा २ में अवस्थित है, के मूल निवासी हैं.  वह डी एम एकेडमी बगहा 1 के छात्र रहे हैं। उन्होंने उर्दू की इब्तेदाई तालीम नही होने के बाद भी अपने शौक़ और सीखने की ललक के चलते इंटरनेट के माध्यम से उर्दू सीखने के बाद शेर व शायरी में हाथ आज़माना शुरू किया। नतीजे के तौर पर ” दरख्शां ” को उन्होंने उर्दू, देवनागरी और अंग्रेजी में प्रकाशित हुई.
इस मौके पर  कार्यक्रम के मुख्य आयोजक चंपारण अदबी मंच के मुख्य संयोजक डाक्टर शकील अहमद मोईन, अखिलेश्वर नाथ त्रिपाठी जी, मनोज कुमार सिंह, अतिऊर्रहमा, मुश्ताक अहमद, राकेश सिंह, अविनाश पांडे, , रविश पांडे , महम्मद निजामुद्दीन , जुगनू आलम और अब्दुल गफ्फार उपस्थित थे.