जनपद

चंद्रशेखर हत्याकांड : हत्यारों की 24 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं होने पर चंद्रशेखर की माँ धरने पर बैठी

⁠⁠⁠-सिसवा के व्यापारियों, पूर्व सांसद सहित तमाम नेताओं का मिला समर्थन

महराजगंज, 17 सितम्बर. सिसवां के चर्चित चंद्रशेखर हत्याकांड के 24 दिन बाद भी मामले का खुलासा न होने से आहत चन्द्रशेखर की मां शांति देवी के सब्र का बांध टूट गया और शनिवार को बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने को लेकर घर से बाहर निकल व्यापारी नेताओं के साथ कलेक्ट्रेट परिसर में धरना दिया. उन्होंने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज कर चन्द्रशेखर हत्याकांड की स्वतंत्र जांच एजेंसी से निष्पक्ष जांच कराने और दोषियों को सजा दिलाये जाने की मांग की।
बता दें कि 24 अगस्त की देर रात अपने बहन के लिये रिश्ता देख कर घर लौट रहे युवा व्यवसायी चन्द्रशेखर मद्धेशिया को सिसवां नगर के प्रेम चित्र मन्दिर रोड पर बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी।

इस मामले 25 अगस्त को पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरु कर दी।शुरु में पुलिस काफी सक्रिय रही लेकिन मामले में एक चर्चित राजनीतिक व्यक्ति का नाम आने के बाद अचानक से पुलिस की चाल धीमी हो गयी।यही नहीं घटना के वक्त चन्द्रशेखर के साथ रहे उसके मित्र ईश्वर ने पुलिस को हत्यारों का नाम भी बताया। बावजूद इसके 24 दिन बाद भी पुलिस मामले का खुलासा नहीं कर पाई।

इससे नाराज मृतक चन्द्रशेखर की मां शांति देवी शनिवार को परिवार सहित कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठ गयी।

अखिलेश सिंह , पूर्व सांसद
अखिलेश सिंह , पूर्व सांसद

बेटे के हत्यारों को सजा दिलाने और न्याय लिये शुरु किये गये शांति देवी के इस आन्दोलन में पूर्व सांसद कुवंर अखिलेश सिंह, समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष राजेश यादव, अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला उपाध्यक्ष रोशन मद्धेशिया, कांग्रेस पार्टी के जिला उपाध्यक्ष विनोद तिवारी, जिला पंचायत सदस्य जितेन्द्र यादव, उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के कोषाध्यक्ष शिवनाथ मद्धेशिया, समाजसेवी अमरेन्द्र कुमार मल्ल, राधेश्याम मौर्य,अखिल भारतीय मध्यदेशीय एकता परिषद के गिरधारी मद्धेशिया, तेज प्रताप मद्धेशिया, विश्वनाथ मद्धेशिया, शैलेन्द्र मद्धेशिया, दीपक मद्धेशिया, आशा देवी, सुमित्रा देवी, मालती देवी, मिना देवी, रुपा देवी, परवेज आलम, महेन्द्र यादव, रवि गोंड़, सुरेश मद्धेशिया, अशोक गुप्ता, संदीप चौरसिया, छवि यादव आदि ने अपना समर्थन देते हुये मामले की जांच स्वतंत्र जांच एजेंसी से कराये जाने की मांग करते हुये कहा कि सप्ताह भीतर अगर मामले का खुलाशा नहीं हुआ तो पीडित परिवार संग व्यापक आन्दोलन किया जायेगा।

Add Comment

Click here to post a comment