जनपद

चन्द्रशेखर हत्या कांड : खुलासे में देरी के विरोध में सिसवा बन्द,धरना-प्रदर्शन

  • 103
    Shares

सिसवा बाजार (महराजगंज) 1सितंबर। गुरुवार को चन्द्रशेखर हत्या कांड मामले में पुलिस द्वारा खुलासे में देरी को लेकर नगर के व्यवसाइयों ने विरोध में अपनी अपनी दुकानें बंद कर किया धरना-प्रदर्शन किया.
चन्द्रशेखर हत्या कांड के एक सप्ताह बीतने के बाद व्यापारियों का सब्र टूट गया. घटना के खुलासे में देरी से नाराज मृतक के परिजनों व उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष प्रमोद जायसवाल,मधेशी वैश्य समाज के जिलाध्यक्ष रौशन मद्धेशिया,बसपा नेता प्रमोद शर्मा व कांग्रेसी नेता प्रदीप सिंह के नेतृत्व में इस्टेट चौरहे से व्यवसायियों और नगर के युवाओं ने बाज़ार में घूम कर दुकानें बंद करा दी व बाइक जुलुस निकल कर नगर का भ्रमण करते हुए सिसवा रेलवे स्टेशन ग्राउंड में पहुँच कर धरने पर बैठ गये।

सिसवा बंद 2

धरने की सूचना मिलने पर कोठीभार पुलिस धरना स्थल पर पहुंची और  एसओ जितेंद्र सिंह के 24 घंटे के मामले का खुलासा कर देने के आश्वासन पर धरना ख़त्म किया गया और 2 घंटे के बाद दुकानें खुल गई। इस विरोध प्रदर्शन में अमरेंद्र उर्फ़ संतोष मल्ल,अश्वनी रौनियार एडवोकेट, सत्यम सिंह, विकास सिंह,सुनील जायसवाल, सुजीत जायसवाल, वीरेंद्र मद्धेशिया,पिंटू अली, विजय जायसवाल, चन्दन, बलराम,टिल्लू सुल्तानिया, कन्हैया,परिजन- दीपक, संजय, राजेश, बृजेश, दिनेश मद्धेशिया आदि एवं माता श्रीमती शांति देवी  शामिल रही।

चन्द्रशेखर हत्या कांड की खुलासे की मांग

चोखराज तुलस्यान सरस्वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य व भारतीय जनता पार्टी के बरिष्ठ कार्यकर्ता ज्योतिषमणि त्रिपाठी ने एक प्रेस  विज्ञप्ति जारी कर हत्या कांड की पुलिस द्वारा शीघ्र खुलासे की मांग  करते हुए कहा कि इस हत्या कांड में भाजपा कार्यकर्ता का नाम चर्चाओं में आ रहा  है. ऐसे चेहरे को बेनकाब करे साथ ही जिस लाइसेंसी असलहे को हत्या कांड में प्रयोग करने की बात कही जा रही है उसका भी खुलासा होनी चाहिए ताकि भ्रामक प्रचार पर विराम लग सके।

व्यापर मंडल

हियुवा,बीजेपी व व्यापार मंडल ने  हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की

सिसवा कस्बे में व्यवसायी की हत्या को लेकर हिन्दू युवा वाहनी भारतीय जनता पार्टी व व्यापार मंडल ने संयुक्त रूप से बैठक कर हत्या कांड में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की।
बैठक मे कहा गया कि इस घटना मे पुलिस प्रशासन द्धारा एक सप्ताह बीतने के बाद भी अब तक अपराधियो की पहचान कर मामले का खुलासा नही किया गया।इससे नगर के लोगो मे भय बना व्याप्त है।कई तरह की अफवाहे फैली हुई है जो कभी भी किसी अप्रिय घटना का रूप ले सकती है। इस हत्या कांड में समाज के प्रतिष्ठित लोगो को घसीटने का कार्य तथाकथित लोगो द्धारा किया जा रहा है। जो कि प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान है। प्रशासन इस मामले में निष्पक्ष कार्यवाही कर अपराधियो को जेल के सलाखों के पीछे पहुंचाए। बैठक में हिंयुवा के नगर संयोजक मनीष शर्मा,शिव कुमार रौनियार, सुनील अग्रवाल, भाजपा मंडल उपाध्यक्ष राजू सिंह, आशीष उपाध्याय, मनोज तिवारी, दिवाकर पांडेय, व राकेश सिंह उपस्थित रहे।

Add Comment

Click here to post a comment