समाचार

छमाही परीक्षा होने जा रही, आधे से अधिक बच्चों को अभी तक किताब नहीं मिल पाई

कुशीनगर में प्राथमिक और जूनियर हाई स्कूल में पढ़ाई का हाल

रमाशंकर चौधरी
कुशीनगर, 1 अक्टूबर। जिले में परिषदीय विद्यालयों के आधे से अधिक बच्चों को अभी तक पुस्तकें नहीं मिल पाई हैं जबकि उनकी छमाही परीक्षा शुरू होने जा रही है।
कुशीनगर में कुल 2379 प्राथमिक विद्यालय और 824 जूनियर हाई स्कूल हैं जिनमें सवा तीन लाख बच्चों का नामांकन है। इन बच्चों में से आधों को अभी तक किताबें नहीं मिल सकी हैं। इन बच्चों में कुल 27 लाख किताबें वितरित होनी थी लेकिन इभी तक 5.46 लाख किताबें ही बांटी जा सकी हैं। इन बच्चों की अद्र्ववार्षिकी परीक्षा 19, 20 व 21 अक्टूबर को निर्धारित है। सवाल उठता है कि बच्चे जब किताब से नहीं पढे हैं तो किस तरह से इम्तहान देंगे। अभी तक कक्षा एक के छात्रों को ‘ कलरव ’, कक्षा दो के बच्चों को ‘ गिनतारा ’ व जूनियर में कक्षा सात में ‘ वर्तिका ’ व ‘ रेनवो ’, कक्षा आठ ‘ मंजरी ’ ही मिल पाया है।
बेसिक शिक्षा अधिकारी पन्नाराम गुप्ता ने बताया कि यह सिर्फ कुशीनगर जिले की समस्या नहीं हैं बल्कि पूरे प्रदेश की समस्या है नमूना कापी के सत्यापन में देरी के कारण किताबें उपलब्ध कराने में देरी हुई है। एक सप्ताह में सभी विद्यालयों में किताबें उपलब्ध हो जायेगी।

Add Comment

Click here to post a comment