जलवायु परिवर्तन गहरी चिन्ता का विषय

  • 7
    Shares

पोस्टर, स्लोगन और माडल प्रतियोगिता में300 बच्चो ने भाग लिया
गोरखपुर एनवायरन्मेन्टल एक्शन ग्रुप, वन विभाग और महानगर पर्यावरण मंच ने पृथ्वी दिवस का आयोजन किया
गोरखपुर, 22 अप्रैल। आज विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर गोरखपुर एनवायरन्मेन्टल एक्शन ग्रुप, वन विभाग  व महानगर पर्यावरण मंच के संयुक्त तत्वावधान में एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन निपाल क्लब में किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी ओ0 एन0 सिंह ने तेजी से हो रहे जलवायु परिवर्तन पर गहरी चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे उत्पन्न समस्याओं पर काबू पाने के लिए सभी को जागरूक होने की आवश्यकता है।
उन्होने अपने विभिन्न जनपदों में कार्यकाल के दौरान हुए पर्यावरणीय अनुभवों की चर्चा करते हुए कहा कि अगर हम अपनी सुविधा भोगी मानसिकता में बदलाव लाये तो काफी हद तक कार्बन उत्सर्जन को कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि पहले भी तेज गर्मी और बारिश तथा ठण्ड का अनुभव लोगों ने किया है लेकिन तब और अब में इस सब से बचने के जो-जो आधुनिक उपाय हुए है जिससेे पर्यावरण प्रभावित हुआ है। उन्होंने जल की बर्बादी को रोकने के सुझाव दिये। कई देशों की चर्चा करते हुए कहा कि आज जिन देशों ने जलवायु परिवर्तन के खतरों को ठीक से समझा है वे पर्यावरण असंतुलन से उत्तपंन्न हानियों से कम प्रभावित है हमें भी अपने युवा पीढ़ी को इस प्रकार तैयार करना होगा कि वे देश के पर्यावरण को बचाने के लिए मजबूत सोच पर अमल करे।

 

IMG_6040

महानगर पर्यावरण मंच के वरिष्ठ सदस्य पी0के0लाहिड़ी ने महानगर में विभिन्न बहुमंजिला इमारतों के निर्माण के दौरान जमीन के निचली सतह से बड़ी संख्या में पम्प लगाकर बाहर फेकने और पानी की बर्बादी पर कठोर अपत्ति करते हुए कहा कि एक ओर तो यह गैर कानूनी तो है ही दूसरी ओर महानगर के लोगों को आने वाले समय में बड़े जल संकट से जूझना पडेगा। उन्होने महानगर से ताल एवं पोखरों के सिकुड़ने और उनकी घटती संख्या पर गहरी चिन्ता व्यक्त की।

जिला वनाधिकारी डा0 जर्नादन शर्मा ने कहा कि धरती को हरा भरा रखना और जंगलों की सुरक्षा के साथ-साथ हमें अधिक से अधिक पौध रोपण करने के लिए हमें सहभागिता करनी होगी क्योंकि सभी पर्यावरणीय समस्या का पौध रोपण ही निदान है।

गोरखपुर एनवायरन्मेन्टल एक्शन ग्रुप की समन्वयक डा0 सीमा त्रिपाठी के कहा कि महानगर के 75 विद्यालयों के 35000 बच्चों को पोस्टर प्रतियोगिता, माॅडल प्रतियोगिता, स्लोगन प्रतियोगिता तथा शहर को हरा-भरा बनाए रखने हेतु हस्ताक्षर अभियान आदि अनेक कार्यक्रमों को किया गया। उनमें से चुने गये पोस्टरों, स्लोगन और माडल की एक प्रर्दशनी एवं परिचर्चा का आयोजन आज किया गया।

 

IMG_6027

गोरखपुर एनवायरन्मेन्टल एक्शन ग्रुप के सचिव जितेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि अर्थ डे नेटवर्क की वैश्विक परामर्शदात्री समिति ने प्रथम बार 1970 में विश्व अर्थ दिवस का आयोजन किया था तब से लेकर अब तक विश्व के अधिकतर देशों ने पृथ्वी को हरा भरा बनाये रखने और इसे बचाये रखने की दृष्टि से समय-समय पर लोगों का जागरूक किया है। वर्तमान समय में अर्थ डे नेटवर्क में विश्व के 192 देश, 22000 सरकारों व संस्थाओं के साथ इस दिन मनाते हैं। पृथ्वी दिवस का इस वर्ष का प्रमुख विषय न्यून कार्बन जीवन शैली, जल संरक्षण, वृक्षारोपण व शहरों को हरा-भरा रखना है।

माडल प्रतियोगिता में नवल्स एकेडमी की कुसमी प्रथम

इस अवसर पर आयोजित पोस्टर, स्लोगन और माडल प्रतियोगिता में विभिन्न स्कूलों के लगभग 300 बच्चों ने भाग लिया जिसमें माडल प्रतियोगिता में नवल्स एकेडिमी कुसमी प्रथम, कार्मल गल्र्स इण्टर कालेज द्वितीय और मदरसा गौसिया मानबेला तृतीय पुरस्कार, पोस्टर प्रतियोगिता में सेन्ट्रल एकेडमी की दीपिका राय प्रथम, सरस्वती सीनियर सेकेण्ड्री सूरज कुण्ड के अच्युत त्रिपाठी द्वितीय और कार्मल गल्र्स इण्टर कालेज की स्नेहा तिवारी को तृतीय पुरस्कार तथ स्लोगन लेखन में नवल्स एकेडिमी रूस्तमपुर के निरभ्र को प्रथम, कार्मल गल्र्स इण्टर कालेज की एकता यादव को द्वितीय और नवल्स एकेडिमी रूस्तमपुर की नौशीन निशात को तृतीय पुरस्कार मिला। सभी विजेताओं को जिलाधिकारी ने पुरस्कार दिया।

इस अवसर पर पी0एन0 श्रीवास्तव, डा0 सुमन सिन्हा, डा0 स0पी0त्रिपाठी,एजाज रिजवी, डा0 मुमताज खान, जितेन्द्र द्विवेदी, धमेन्द्र नरायण दूबे, मो0 इकबाल, अतीक अहमद, पुनीत अग्रवाल, दिनेश उपाध्याय, प्रशान्त त्रिपाठी आदि लोग उपस्थित थे।

Leave a Comment

Skip to toolbar