समाचार

जुझारू सोशलिस्ट नेता रमाकांत पाण्डेय नहीं रहे

गोरखपुर, 15 मार्च । अपने संघर्षशील जज्बे आैर जुझारुपन के लिए विख्यात रहे सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, फर्टिलाइजर कारखाना मजदूर यूनियन के जन्मदाता रमाकांत पाण्डेय का बृहस्पतिवार सुबह निधन हो गया। वह 80 वर्ष के थे। वह अपने पीछे छह विवाहित पुत्रियों व एक पुत्र का भरापूरा परिवार छोड़ गये हैं। उनका अंतिम संस्कार राप्ती नदी के राजघाट पर हुआ.  मुखाग्नि उनके पुत्र अमित पाण्डेय ने दी.
मूल रूप से ऊंचगांव निवासी रमाकांत पाण्डेय महानगर के आवास विकास कालोनी, कूड़ाघाट में रहते थे। वह पिछले कुछ सालों से अस्वस्थ चल रहे थे। बृहस्पतिवार भोर में सांस लेने में तकलीफ होने पर परिजन उन्हें अस्पताल ले गये जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। उनके निधन की सूचना मिलते ही इमरजेंसी आंदोलन के दौरान से जुड़े उनके साथियों, फर्टिलाइजर मजदूरों की लड़ाई में सहभागी रहे दोस्तों व शुभेच्छुओं में शोक की लहर दौड़ गयी।
रमाकांत पाण्डेय युवाकाल में ही समाजवाद से बेहद प्रभावित रहे। वह समाजवाद के भारत में महानायक राम मनोहर लोहिया के करीबियों में शुमार रहे आैर उनके साथ कई आंदोलनों में शरीक हुए। आपातकाल के दौरान वह बेहद सक्रिय होकर पुलिस को छकाते रहे आैर पुलिस उन्हें इमरजेंसी के आखिरी दिनों में गिरफ्तार कर पायी। गोरखपुर के फर्टिलाइजर आंदोलन को लेकर उन्हें सदैव याद रखा जाएगा।
फर्टिलाइजर आंदोलन में स्व. पाण्डेय के फालोवर रहे प्रमोद कुमार बताते हैं कि पुराना खाद कारखाना बनाने के लिए किसानों की भूमि अधिग्रहण करने पर उन्होंने किसानों के हक की जबरदस्त लड़ाई लड़ी आैर किसानों को उचित मुआवजा दिलवाया। किसानों की उस समय की लड़ाई में रमाकांत पाण्डेय के आह्वान पर राम मनोहर लोहिया भी शामिल हुए थे। खाद कारखाना की स्थापना के बाद उन्होंने यहां की सबसे बड़ी यूनियन फर्टिलाइजर कारखाना मजदूर यूनियन का गठन कराया आैर मजदूरों को संगठित कर आंदोलन के जरिए उन्हें बड़ी जीत दिलायी। आपातकाल के बाद उन्होंने पूरे देश के फर्टिलाइजर यूनियनों को संगठित कर फर्टिलाइजर वर्कर्स फेडरेशन आफ इंडिया का गठन कर राष्ट्रव्यापी आंदोलन चलाया। सोशलिस्ट पार्टी के अध्यक्ष रहे रमाकांत पाण्डेय गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़े थे।
समाजवादी आन्दोलन के मजदूर नेता रमाकान्त पाण्डेय के निधन की खबर से समाजवादियों व उनके शुभचिन्तकों में शोक की लहर है। उसके अन्तिम दर्शन के लिए भारी संख्या में राजघाट पहुंचकर उनको श्रद्धांजलि दी और अन्त्येष्टि स्थल पर शोक सभा का भी आयोजन किया गया। रमाकांत के व्यक्तित्व व कृतित्व पर चर्चा भी चर्चा किया गया।
इसी क्रम में समाजवादी जन परिषद के जिला सचिव सतेन्द्र यादव की अध्यक्षता में भटहट प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक नेता रमाकान्त पांडेय  के आकस्मिक मौत पर दो मिनट का मौन रखके आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना की गयी।
शोक सभा में रेलवे मजदूर नेता केएल गुप्ता, अश्विनी पाण्डेय, रामयश, ओमप्रकाश द्रविण, विनय, शारदा, आरडी मिश्र, मुखलाल , गौतम, राम सिंह, दिनेश, फतेह बहादुर सिंह, राममूर्ति, सुधाकर पाण्डेय, जितेन्द्र राय, राम प्रताप राय, शैलेश कुमार, रामनवल निषाद, जयराम, रामछवी के साथ तमाम लोग उपस्थित रहे।