जफ़र हुसैन की हत्या के खिलाफ भाकपा (माले) का जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन

लखनऊ, 20 जून। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले में पार्टी कार्यकर्ता व अखिल भारतीय निर्माण मजदूर फेडरेशन की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य जफर हुसैन की पीट-पीट कर की गई हत्या के खिलाफ मंगलवार को प्रदेश में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया।
राजधानी में भाकपा (माले), निर्माण मजदूर यूनियन, एक्टू व ऐपवा कार्यकर्ताओं ने जीपीओ पार्क में गांधी प्रतिमा के सामने धरना-प्रदर्शन किया। मऊ, गाजीपुर आदि जिलों में भी प्रदर्शन हुए।
प्रदर्शन के माध्यम से राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन भेज कर पार्टी ने मांग की है कि कामरेड जफर की हत्या में प्रतापगढ़ नगरपालिका कमिश्नर और एफआईआर
में दिये गये अन्य सभी नामजद अभियुक्तों को तत्काल गिरफ्तार किया जाये और उन्हें जल्द-से-जल्द सजा दी जाये। इसके अलावा, केन्द्र व राज्य सरकारों द्वारा स्वच्छ भारत अभियान की आड़ में महिलाओं को अपमानित व शर्मशार करने के कृत्य को गैरकानूनी घोषित किया जाये।
मालूम हो कि प्रतापगढ़ के एक मुहल्ले में खुले में शौच करने वाली महिलाओं का स्वच्छता अभियान के तहत वीडियो बना रहे नगरपालिका कर्मियों को रोकने का प्रयास करने पर कामरेड जफर की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी। घटना से कुछ दिन पहले नगरपालिका को ज्ञापन देकर कामरेड जफर ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण कराने और बंद पड़े शौचालयों की मरम्मत करा चालू कराने की मांग की थी। साथ ही महिलाओं को सार्वजनिक रूप से अपमानित करने और उनके साथ जबर्दस्ती करने पर आपत्ति जतायी थी। 16 जून की सुबह हुई इस जघन्य हत्याकांड के खिलाफ भाकपा (माले) ने 19-20 जून को राष्ट्रव्यापी विरोध का आह्वान किया था।
पार्टी का कहना है कि इस तरह की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी महिलाओं का यौन उत्पीड़न और आपराधिक कृत्य है। इस बर्बर हत्याकांड ने एक बार फिर इस तथ्य को सामने ला दिया है कि कैसे स्वच्छ भारत अभियान को भी उन्मादी भीड़ हत्याओं और महिलाओं के सम्मान पर हमले के लिए बहाना बनाया जा रहा है

Leave a Comment

Skip to toolbar