समाचार

डाक्यूमेंट्री और प्रदर्शनी के जरिये गोरखपुर महोत्सव में दिखेगा सोहगीबरवां सेंचुरी का नजारा

पर्यटन को बढावा देने के उद्देश्य से वन विभाग लगायेगा स्टाल

महराजगंज, 10 जनवरी. गोरखपुर महोत्सव में आने वाले लोगों को पर्यटन के लिहाज से लुभाने और सोहगीबरवा वन्य जीव प्रभाग के ईको टूरिज्म प्रोजेक्ट को प्रमोट करने की गरज से महोत्सव में खास स्टाल लगाकर लोगों को सोहगीबरवा जंगल की सैर के लिए प्रेरित करने का प्रेरित किया जायेगा. इसके लिए विभाग ने सभी तैयारियां पुरी कर ली है। स्टाल पर प्रोजेक्टर के माध्यम से तेंदुआ और अन्य जंगली जानवरों व दर्जीनिया ताल के मगरमच्छों के प्रजनन केन्द्र की वीडियो फुटेज दिखा कर लोगों को आकर्षित किया जायेगा।

नेपाल के चितवन नेशनल पार्क और बिहार के बाल्मीकी नगर व्याघ्र परियोजना के जंगलों से सटा जनपद का 84 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में फैला सोहगीबरवा वन्य जीव प्रभाग में बाघ के अलावा तेंदुआ, मगरमच्छ व अन्य जंगली जानवर हैं. जंगल के बीत से गुजरी नारायणी नदी में डाल्फिन की छलांग भी लोगों को आकर्षित करती है. अफसरों का कहना है कि लोग जब जंगल को करीब से जानेंगे तभी उसके संरक्षण व संवर्धन में योगदान करेंगे. ऐसे में गोरखपुर महोत्सव में विभाग अपनी प्रर्दशनी के माध्यम से लोगों को बताएगा कि जंगल का रोमांचकारी टूर करना है तो सोहगीबरवा आइए.

sohgibarwana 2

पर्यटकों को लुभाने के लिए ट्री सफारी विकसित करने की भी योजना है। इसमें पेड़ों के बीच रस्सियां बांध रोप-वे जैसा सफर कराया जाएगा। दूसरे रूट में सैलानी गंडक बीट में स्थित घडियालों के घर कहे जाने वाले दर्जिनिया ताल में सैकडों की तादात में मगरमच्छों के झुण्डों को देखने के आकर्षक नजारों के बीच जंगल के बीचों बीच टेलफाल से तीन किमी तक मोटर बोट पर बोटिंग का लुत्फ उठाते हुए शिवपुर रेंज और जिले के टापू कहे जाने वाले सोहगी बरवां का सफर पर्यटकों के लिए रोमांच से भरा होगा।

डाक्यूमेंट्री फिल्म में दिखेगी सोहगीबरवां की खूबसूरती

सोहगीबरवा जंगल के बीच खूबसूरत नाजारों वाला ग्रासलैंड, वेटलैंड, मगरमच्छों के लिए मशहूर दर्जीनिया ताल व प्रवासी पक्षियों के बिहार सिगरैना ताल जैसे कई स्थल हैं जहां पहुंचने के बाद प्रकृति के खूबसूरत नाजारे मन मस्तिष्क को सुकून पहुंचायेंगे। इनके साथ-साथ गोरखपुर महोत्सव में जंगल के वन्य जीवों की वीडियो फुटेज दिखाने के लिए वन विभाग ने डाक्यूमेंट्री तैयार कराई है। वन्य जीवों की कुछ लाइव फुटेज लेने के लिए सेंक्चुरी में नाइट विजन कैमरे लगाए गए थे।

sohgibarwana 3

डीएफओ मनीष सिंह का कहना है कि गोरखपुर महोत्सव में सोहगीबरवा वन्य जीव प्रभाग प्रदर्शनी लगाकर लोगों को ईको टूरिज्म के लिहाज से पर्यटन को विकसित करने का प्रयास करेगा। महोत्सव में स्टाल लगाने की पूरी तैयारी कर ली गई है।प्रोजेक्ट के माध्यम से डाक्यूमेंट्री फिल्म दिखाकर जंगल के अद्भुत नजारों लोगों को दिखाया जायेगा और लोगों को वाईल्ड लाईफ के सुरक्षा और संवर्धन को लेकर भी जागरुक किया जायेगा।

Leave a Comment