समाचार

तहसील बनाने की मांग को लेकर बंद रहा सिसवा

सिसवा बाजार (महराजगंज) 11 जनवरी।  सिसवा नगर पंचायत को तहसील बनाये जाने की मांग को लेकर तहसील बनाओ संघर्ष समिति के आह्वान पर बृहस्पतिवार को नगर के व्यवसायियों ने अपनी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रखी।

सिसवा में बंदी 2
सिसवा तहसील बनाओं संघर्ष समिति द्वारा आहूत इस बंद  का नगर के व्यवसायियों सहित मारवाड़ी युवा मंच, व्यापार मंडल आदि ने अपना पूर्ण समर्थन दिया. इक्का-दुक्का दुकानों को छोड़कर नगर के सभी प्रतिष्ठान बंद रहे। सिसवा तहसील बनाओ संघर्ष समिति के लोगों को अपने समर्थन में बंद के लिए कोई विशेष प्रयास नही करना पड़ा। बंद का समर्थन करते हुए नगर के कपड़ा व्यवसायी हरिराम भालोटिया, राजेश सिंह, स्वर्ण व्यवसायी शिवजी सोनी, रामनरायन जायसवाल, रोशन मद्धेशिया, मनोज मधुर सोनी, संजय चौरसिया,रामेश्वर जायसवाल आशीष जायसवाल आदि ने इस बंद का समर्थन करते हुए नगर का भ्रमण किया।

सिसवा में बंदी 3

संघर्ष समिति के अध्यक्ष अमरेंद्र मल्ल, श्रीराम शाही,रिज़वान अहमद, विवेक सोनी, विकास जायसवाल ने कहा कि 1871 में ब्रिटिश काल में घोषित सिसवा नगर पंचायत का 147 वर्षों में भी कोई विकास नही हो सका। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद बने अनेक नगर पंचायतें आज तहसील एवं जिला मुख्यालय बनीं लेकिन सिसवा विअस का वैसा ही रहा. क्षेत्र के चुने गए जनप्रतिनिधियों पर प्रहार करते हुए कहा कि सिसवा नगर राजनैतिक इच्छा शक्ति के अभाव में आज भी पिछड़ा है। यहां के बड़े-बड़े व्यवसायी अपने उद्योग-धंधों को लेकर बड़े शहरों,जनपद मुख्यालयों की ओर पलायन कर चुके हैं। ऐसे में सिसवा उप नगर को तहसील का दर्जा देकर ही इसका विकास किया जा सकता है। इस दौरान नवीन चौरसिया, विश्वजीत चौबे,अंशुमान पांडेय, वैष्णव सोनी, मुकेश रौनियार, रिंकू कुमार आदि उपस्थित रहे।

Add Comment

Click here to post a comment