समाचार

थ्रीडी, एलईडी के जरिए गोरखपुर मंडल में हज ट्रेनिंग दे रहे है युवा

19 को गोरखपुर में व 22 को फरेंदा आनंदनगर में होगी हज ट्रेनिंग
गोरखपुर। हज के सफर के लिए गोरखपुर मंडल से 792 लोग चुने गए है। प्रतीक्षा सूची भी निकल चुकी है। मुकद्दस हज के सफर की तैयारियां शुरू है। हज यात्रियों के लिए हज ट्रेनिंग का दौर चल रहा है। ट्रेनिंग में हज के सफर में बरती जाने वाली सावधानियां, एहराम बांधने का तरीका, अदा किए जाने वाले अन्य अरकान, दुआएं, मक्का-मदीना में हाजरी का तरीका सिखाया जा रहा है।

इन सबके बीच गोरखपुर मंडल के जिलों में तहरीक-ए-दावते इस्लामी हिन्द के युवा हाजी आजम अत्तारी, हाफिज मोईनुद्दीन निजामी, मो. फरहान अत्तारी, मो. अादिल अत्तारी तकनीकी साधनों का प्रयोग कर हज ट्रेनिंग काफी रुचिकर अंदाज में दे रहे है। ट्रेनिंग में थ्रीडी तकनीक का प्रयोग करके इलेक्ट्रानिक डिवाइस के द्वारा प्रैक्टिकल तरीका और हज के मुकद्दस मकामात (स्थानों) को दिखाकर हज यात्रियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है।  जिसका लोगों को काफी फायदा मिल रहा है।

 

कुशीनगर में हज ट्रेनिंग 25 मार्च को मुकम्मल हो चुकी है। जिसमें सैकड़ों हज यात्रियों ने शिरकत की। महराजगंज के नौतनवां में रविवार 8 अप्रैल को हज ट्रेनिंग हुई। जिसका बड़ी संख्या में हज यात्रियों ने लाभ उठाया। गोरखपुर में ऊंचवां स्थित आइडियल मैरेज हाउस में 19 अप्रैल गुरूवार को सुबह 10 बजे से शाम 4:30 बजे तक हज ट्रेनिंग दी जाएगी। वहीं 22 अप्रैल को महराजगंज जनपद के फरेंदा आनन्दनगर में जनता मैरेज हाउस में सुबह 10 से शाम 4:30 बजे तक हज ट्रेनिंग दी जाएगी।

ट्रेनिंग में एलईडी 12 बाई 8 की तो कहीं-कहीं प्रोजेक्टर व लैपटॉप का प्रयोग किया जा रहा है। हज यात्रियों को मौलाना इलियास अत्तारी द्वारा लिखित हज से सबंधित किताब ‘रफीकुल हरमैन’ मुफ्त बांटी जा रही है साथ ही हज ट्रेनिंग से सबंधित यूट्यूब लिंक व हज से सबंधित किसी भी जानकारी के लिए हज ट्रेनर का मोबाइल नम्बर भी दिया जा रहा है।

haj training 3

ट्रेनिंग का खर्चा चंदे के जरिए पूरा किया जा रहा है। बाकायदा हज यात्रियों के  खान-पान की मुफ्त व्यवस्था की जा रही है। तहरीक के मो. अादिल अत्तारी ने बताया कि थ्रीडी, एलईडी, प्रोजेक्टर, लैपटॉप से हज यात्रियों को तमाम अरकान समझाने में काफी आसानी होती है। वहीं यात्रियों को समझने में भी सहूलियत होती है। महिलाओं के लिए पर्दे का खास इंतजाम किया जाता है। उनके मसले भी बारीकी से बताए जाते है। ट्रेनर तमाम अरकान खुद करके भी दिखाते है। तहरीक द्वारा काई सालों से हज ट्रेनिंग का सिलसिला चलाया जा रहा है।

मंडल से जाने वाले हज यात्री
गोरखपुर – 339
कुशीनगर – 117
महराजगंज – 248
देवरिया – 88

Skip to toolbar