Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » देवरिया में फोटो स्टूडियो मालिक की हत्या, गोरखपुर में ज्वेलरी दुकानदार से मांगी 5 लाख की रंगदारी
logo_gorakhpur-news-line-2

देवरिया में फोटो स्टूडियो मालिक की हत्या, गोरखपुर में ज्वेलरी दुकानदार से मांगी 5 लाख की रंगदारी

देवरिया में एलआईसी एजेंट को गोली मारकर घायल किया
गोरखपुर में रंगदारी मांगने की सातवीं घटना, भयभीत डाॅक्टर मुख्यमंत्री से मिले
गोरखपुर, 9 जुलाई। देवरिया में शनिवार की रात बदमाशों ने फोटो स्टूडियो के मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी और एक एलआईसी एजेंट को गोली मारकर घायल कर दिया। उधर गोरखपुर में बदमाशों ने आभूषण कारोबारी से रंगदारी मांग कर एक पुलिस के लिए चुनौती पेश कर दी। गोरखपुर में डाॅक्टरों व व्यापारियों से रंगदारी मांगने की यह सातवीं घटना है। ये तीनों घटनाएं तब हुईं जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद गोरखपुर में थे।
गोरखपुर जिले के उरूवा के आभूषण कारोबारी अशोक को गुरूवार और शुक्रवार को फोन कर पांच लाख रूपए की रंगदारी मांगी गई। फोन करने वाले ने रंगदारी न मिलने पर मार डालने की धमकी दी। अशोक की उरूवा में ज्वेलरी के साथ-साथ बर्तन की दुकान हैै। आशोक के पास पहली काल गुरूवार की शाम को आई थी। फोन करने वाले ने पांच लाख रूपए की मांग की। कुछ देर बाद उनके पास दोबारा फोन आया और पांच लाख न देने पर  जान से मारने की धमकी दी गई। उन्होंने घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दी लेकिन एफआईआर शनिवार को दर्ज हुई। एफआईआर दर्ज हो जाने के बाद यह घटना सार्वजनिक हुई।
इसके पहले गोरखपुर शहर के दो चिकित्सकों डा. शिवशंकर शाही और डा. शशिकांत दीक्षित से बदमाश रंगदारी मांग चुके हैं। इसमें से एक चिकित्सक डा. शिवशंकर शाही, मुख्यमंत्री के नजदीकी हैं। उनके अस्पताल का उद्घाटन खुद मुख्यमंत्री ने पिछले महीने किया था। उनसे रंगदारी मांगने के मामले में कार्यवाही में लापरवाही बरतने के आरोप में एसएसपी आरपी पांडेय का तबादला भी कर दिया गया लेकिन ऐसी घटनाओं में कमी नहीं आई है।
इसके पहले बड़हलगंज के एक डाॅक्टर से बदमाश रंगदारी वसूल कर चुके हैं। रंगदारी मांगने की घटनाओं से डाॅक्टर खौफ में हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की गोरखपुर इकाई ने इस सम्बन्ध में बैठक भी की और बैठक में लिए गए निर्णय के मुताबिक आठ जुलाई को गोरखपुर आए मुख्यमंत्री से भेंट भी की। चिकित्सकों के प्रतिनिधिमंडल में वह दोनों डाॅक्टर भी थे जिनसे रंगदारी मांगी गई है। सीएम से भेंट के दौरान तो रंगदारी मांगे जाने से भयभीत एक डाॅक्टर रोने लगे। सीएम ने चिकित्सकों को सुरक्षा के लिए आश्वस्त किया।
गोरखपुर में एक पखवारे के भीतर तीन चिकित्सकों, दो सराफा व्यापारियों सहित सात लोगों से रंगदारी की मांग की जा चुकी है।
उधर गोरखपुर के पड़ोसी देवरिया जिले में शनिवार की रात एक फोटो स्टूडियो मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई और एक एलाआईसी एजेंट को गोली मारकर घायल कर दिया गया। दोनांे घटनाएं अलग-अलग लेकिन एक टाईम पर हुईं। पहली घटना रात नौ बजे गोरखपुर रोड पर हुई। एलआईसी एजेंटे अरविन्द विश्वकर्मा अपने घर के बाहर खड़े थे। इसी बीच बाईक पर सवार लोग लोग आए और उन पर ताबड़तोड़ तीन गोलियां दाग दीं। बुरी तरह से घायल अरविन्द को जिला अस्प्ताल ले जाया गया जहां से उन्हें गोरखपुर रेफर कर दिया गया। पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन कर ही रहे थे कि खबर आई कि तहसील गेट के पास गोली चली है। पता चला कि बाइक सवार बदमाशों ने तहसील गेट के पास स्थित फोटो स्टूडियो के मालिक भास्कर जायसवाल को गोली मार दी। उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*