समाचार

दो दलितों को जिंदा जलाने की घटना के विरोध में प्रदर्शन और धरना

अभियुक्तों पर रासुका लगाने, चार पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर बर्खास्त करने तथा पीडि़त परिवार को मुआवजा देने की मांग
गोरखपुर, 14 अक्टूबर। अम्बेडकरवादी छात्र सभा और पूर्वांचल सेना ने आज चैरीचैरा के डुमरी खास गांव में दो दलित युवकों को जिंदा जलाने की घटना जिसमंे एक युवक की बाद में मौत हो गई, को लेकर आज अम्बेडकर चैक से डीएम कार्यालय तक जुलूस निकाला और डीएम कार्यालय पर धरना दिया। दोनों संगठनों ने इस घटना के आरोपियों पर रासुका लगाने, इस घटना में संदिग्ध भूमिका वाले चार पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने तथा मृतक संतोष पासवान के परिजनों को 25 लाख रूपया देने की मांग की।

6d4dfc5e-42d1-44a8-ba30-213f96029731

प्रदर्शन और धरना में जला कर मारे गए संतोष पासवान की बहन जयन्ति देवी भी शामिल हुई। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे अम्बेडकरवादी छात्र सभा के अध्यक्ष अमर सिंह पासवान और पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने इस घटना में हल्का दरोगा, सोनबरसा चैकी इंचार्ज और दो पुलिस कर्मियों की भूमिका उकसाने वाली व अभियुक्तों के समर्थन वाली रही है। मुख्य अभियुक्त अजित यादव ने यह घटना चुनावी रंजिश और जातीय दंभ में की। दोनों नेताओं ने घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हुए दोषी चार पुलिस कमियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें बर्खास्त करनेे, अभियुक्तों पर रासुका लगाने, मृतक संतोष पासवान के परिजनों को 25 लाख और घायल नर्वदा पासवान को 10 लाख की आर्थिक सहायता देने की मांग की।

Add Comment

Click here to post a comment