समाचार

नगर निगम बोर्ड की बैठक में वंदेमातरम गाने के प्रस्ताव पर हंगामा, नारेबाजी

नगर निगम का 252 करोड़ का बजट पारित

गोरखपुर, 2 अप्रैल। नगर निगम बोर्ड की बैठक में महापौर डा. सत्या पांडेय द्वारा वंदेमातरम गाने गाने का प्रस्ताव किए जाने पर खूब हंगामा हुआ। मुस्लिम मार्षदों ने महापौर के चेयर तक जाकर इस प्रस्ताव के विरोध में नारेबाजी की वहीं भाजपा पार्षदों ने प्रस्ताव के समर्थन में वंदेमातरम गाया।
हंगामे के पहले नगर निगम का वर्ष 2017-18 का 252 करोड़ का बजट सर्वसम्मत से पारित हो गया।
नगर निगम बोर्ड की बैठक एक अप्रैल को बजट को मंजूरी देने के लिए बुलायी गयी थी। बजट मंजूर हो जाने के बाद महापौर डा. सत्या पांडेय ने वंदेमातरम गाने का प्रस्ताव किया। पार्षद जियाउल इस्लाम, मोहम्मद अख्तर, हाजी शकील अख्तर ने इसका विरोध किया और कहा कि महापौर नई परम्परा शुरू कर महौल बिगाड़ने की कोशिश कर रही हैं। ये पार्षद महापौर के आसन तक पहुंच गए और महापौर के प्रस्ताव का विरोध करने लगे। इसी बीच भाजपा पार्षद रणंजय सिंह जुगनू, पिंटू गौड़, रविन्द्र सिंह, राजेश जायसवाल आदि वंदेमातरम गाने लगे। हंगामे के दौरान इलाहीबाग के पार्षद मो. अख्तर ने कुर्सी पटक दी और माइक फंेक दिया।
बैठक में मेयर ने योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने पर बधाई प्रस्ताव रखा तो भाजपा पार्षद योगी आदित्यनाथ जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। इस पर सपा पार्षदों ने मुलायम सिंह यादव जिंदाबाद और अखिलेश यादव जिंदाबाद का नारा लगाया।
बोर्ड की बैठक में नगर निगम का 252 करोड़ का वार्षिक बजट पारित कर दिया गया। बजट में 251 करोड़ व्यय और 230 करोड़ की आय का अनुमान लगाया गया है। बजट में तुर्रा नाला के पास गोशाला का निर्माण कराने की बतात कही गई है। इसके अलावा पार्षदों द्वारा खर्च की जाने वाली रकम की सीमा 16 से 21 और 26 से 31 लाख कर दी गई है।

Leave a Comment