समाचार

पति के साथ सैर पर निकलीं बाल रोग चिकित्सक डा. नंदिनी घोष की मार्ग दुर्घटना में मौत

सड़क क्रास करते समय कार ने ठोकर मारी, एम्बुलेंस कुचलते हुए गुजर गई

गोरखपुर। शहर की सुप्रसिद्ध बाल रोग चिकित्सक डा. नंदिनी घोष की आज सुबह सैर के दौरान मेडिकल कालेज रोड पर आरोग्य मंदिर के सामने मार्ग दुर्घटना में मौत हो गई। वह अपने पति डा. आशीष घोष के साथ सड़क क्रास कर रही थीं कि एक कार ने उन्हें ठोकर मारी जिससे वह गिर गई। इसके बाद पीछे से आ रही एक एम्बुलेंस उन्हें कुचलते हुए गुजर गई। बुरी तरह घायल डा0 नंदिनी को पहले एक निजी अस्पताल और फिर मेडिकल कालेज ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

डा. नंदिनी अपने पीछे पति के अलावा दो अविवाहित पुत्रों को छोड़ गई हैं। एक बेटा अमेरिका में तो दूसरा बेटा मुम्बई में नौकरी करता है। दोनों के आने के बाद 17 अप्रैल की सुबह उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

डा0 नंदिनी का घर आरोग्य मंदिर के सामने ही है। वह यहां अपने पति बीआरडी मेडिकल कालेज के आंख विभाग के पूर्व अध्यक्ष डा. आशीष घोष के साथ रहती थी। उनकी क्लीनिक गोरखनाथ रोड पर सिंधी कालोनी के पास है। वह बेहद मिलनसार और खुशमिजाज थीं और अनेक संस्थाओं से जुड़ी थीं। वह रोज सुबह घर के सामने आरोग्य मंदिर पार्क के सामने टहलने जाती थीं। आज सुबह पति-पत्नी दोनों एक साथ टहलने के लिए निकले। डा. नंदिनी आगे थीं और डा. आशीष पीछे। सड़क क्रास करते समय एक कार ने डा. नंदिनी को ठोकर मारी और फिर पीछे से आ रही एम्बुलेंस उन्हें कुचलते हुए गुजर गई।

डा. नंदिनी का शरीर एम्बुलेंस में फंस कर कुछ देर तक घिसटता रहा। डा. आशीष घोष किसी तरह आस-पास के लोगों की मदद से बुरी तरह घायल डा. नंदिनी को एक निजी अस्पताल ले गए। वहां से उन्हें बीआरडी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।
डा नंदिता की मार्ग दुर्घटना में मौत की खबर सुनकर बड़ी संख्या में चिकित्सक उनके घर पर एकत्र हो गए। सभी बहुत दुखी थे। डा आशीष घोष लगातार रोए जा रहे थे। चिकित्सक उन्हें ढांढस बंधा रहे थे।

Skip to toolbar