समाचार

पहली किस्त व दस्तावेज 31 तक जमा करने के फरमान से हज जायरीन में बेचैनी

गोरखपुर, 25 जनवरी। मुकद्दस हज के सफर की लाॅटरी में नाम आने के फौरन बाद आवेदकों से पहली किस्त जमा करने से सबंधित हज कमेटी के मैसेज ने जायरीन में बेचैनी पैदा कर दी है। कमेटी ने 31 जनवरी तक पहली किस्त जमा करने की तिथि निर्धारित की है। प्रति व्यक्ति के रूप में 81000 रुपया हज कमेटी के बैंक एकाउंट में जमा करना है।

हज कमेटी द्वारा मांगे गए दस्तावेज की तकमील (पूर्ण) के लिए जायरीनों ने बैंक से लेकर डाक्टरों तक पहुंच तेज कर दी है। लोगों का कहना है कि हर बार पंद्रह का समय मिलता था लेकिन इस बार एक हफ्ते का समय भी नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि परेशानी यह है कि वह इतनी कम मुद्दत में इतनी बड़ी रकम का कहां से इंतजाम करें। हालांकि उनका यह भी कहना है कि जब अल्लाह ने अपने घर के दीदार के लिए दावतनामा भेज दिया है तो वह पैसे का इंतजाम भी करा देगा। कमेटी ने हज के सफर की पहली किस्त के साथ ही पासपोर्ट, फोटो, मेडिकल स्क्रीनिंग व फिटनेस सर्टिफिकेट भी तलब किया है। यह सारे दस्तावेज स्टेट हज कमेटी में निर्धारित तारीख तक जमा कराने है।
शमशाद अहमद उर्फ अली भाई ने बताया कि रिश्तेदार नफीस के पास हज कमेटी का मैसेज मंगलवार को रात में आया। तभी से वह परेशान हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल लॉटरी के बाद पहली किस्त जमा करने के लिए पन्द्रह दिन का वक्त दिया गया था और अन्य दस्तावेज दूसरी किस्त के साथ जमा करने का निर्देश था। अबकी नियम में बदलाव कर दिया गया। जो उचित नहीं है। कम से कम दो हफ्तों से अधिक का समय हज यात्रियों को मिलना चाहिए। बहुत से लोगों के पास तो अभी हज की प्रथम किस्त जमा करने का मैसेज भी नहीं आया है। इस हफ्ते तो कई छुट्टियां भी है।

Skip to toolbar