Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » पीएम मोदी का लाल किले पर दिया गया भाषण प्रेरणादायी : प्रकाश जावेड़कर
prakash-javdekar

पीएम मोदी का लाल किले पर दिया गया भाषण प्रेरणादायी : प्रकाश जावेड़कर

तेलंगाना के आदिवासी नेता कोमराम भीम की लगायी जायेगी प्रदर्शनी
तिरंगा यात्रा का मकसद नई पीढ़ी को आजादी से रूबरू करवाना 
गोरखपुर, 16 अगस्त। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने तिरंगा यात्रा का शुभारंभ मण्डलीय कारगार स्थित पं. रामप्रसाद बिस्मिल स्माकर पर बिस्मिल की मूर्ति पर माल्यार्पण कर किया।
इस मौके पर उन्होने कहा कि यहां पर पं. रामप्रसाद बिस्मिल को फांसी दी गयी। आज मैं यहां आकर अभिभूत व सम्मानित महसूस कर रहा हूं। यहीं तो आजादी की लड़ाई की बुनियाद हैं जो आने वाली पीढ़ियों को प्ररेणा देती रहेगी कि जियेंगे तो देश के लिए मरेंगे तो देश के लिए। यह कार्यक्रम देशभर में चलाया जा रहा हैं ‘‘ आजादी संकल्प, जरा याद करो कुर्बानी‘‘। क्योंकि 70 साल हो गए नई पीढ़ी ने तो आजादी नहीं देखी उन्हें आजादी की लड़ाई का स्मरण कराया जायें।
उन्होंने कहा कि पं. रामप्रसाद बिस्मिल जैसे महानायक क्रांतिकारी , महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, लालबहादुर शास्त्री, सुभाष चंद्र बोस, सरदार बल्लभ भाई पटेल ने अलग-अलग तरीके से लड़ाई लड़ी। सभी के प्रयास से 1857 से 1947 तक 90 साल तक आजादी के लिए संघर्ष किया गया। नई पीढ़ी को कहना है कि आजादी हमें मुफ्त में नहीं मिली। ब्रिटिशों ने उदार होकर आजादी नहीं दी। ब्रिटिशों ने तो देश को खोखला व लूटा। आजादी के सैनिकों ने आजादी लायी। तेलंगाना  के आदिवासी नेता का जिक्र करते हुए कहा कि आदिवासियों की लड़ाई लड़ने वाले ‘ कोमराम भीम ‘ ने आदिवासियों की लड़ाई लड़ी। प्रधानमंत्री ने लालकिले के भाषण में कहा कि आदिवासी नेता की प्रदर्शनी तैयार कर लगायी जायेगी। ताकि देश के लोग प्ररेणा हासिल करें। देश भर में तिरंगा यात्रा शुरू हुई। देश में अलख जलाया जा रहा है पीएम अलख जला रहे हैं। जागो और देश के लिए काम करो। पीएम का लालकिले पर प्ररेणा दायी भाषण व पाकिस्तान को दी गई चेतावनी समझने लायक है। पीएम का लालकिले पर भाषण इसी अलख के प्ररिप्रेक्ष्य में है। उन्होंने कहा कि 23 को तिरंगा यात्रा के समापन पर देश के 27 करोड़ छात्र-छात्राएं प्रातः 11 बजे अपने संस्थान में सामूहिक राष्ट्रगान गायेंगे। जिसमें 15 लाख स्कूल, 38 हजार कालेज व 700 से ज्यादा विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं शामिल होंगे।
इस मौके पर स्वतंत्रता संघर्ष में शहीदों के परिजनों पं. रामलखन शुक्ला, द्वारका प्रसाद, अक्षयबर सिंह, रामबचन त्रिपाठी, महिपथ सिंह, रामनरेश लाल, शहीद भीम सिंह के परिजनों को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया।
इस मौके पर सांसद योगी आदित्यनाथ, सांसद कमलेश पासवान, मेयर सत्या पांडेय आदि सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*