जीएनल स्पेशल

पीस पार्टी की करारी शिकस्त, डॉ अयूब और उनके बेटे हारे

सैयद फरहान अहमद
गोरखपुर। वर्ष 2012 के चुनाव में चार सीट जीतने और दो दर्जन सीटों पर शानदार प्रदर्शन करने वाली पीस पार्टी का इस चुनाव में सफाया हो गया हैं । पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. मोहम्मद अय्यूब खलीलाबाद से  व उनके पुत्र इं. मोहम्मद इरफान मेंहदावल से चुनाव हार गये हैं।उसका वोट प्रतिशत भी 4 फीसदी से घटकर आधी फीसदी से भी कम हो गई है। निषाद पार्टी के साथ गठबंधन भी उसके काम नहीं आया हालाँकि उसके सहयोग से वह अपनी सीट पर मजबूत लड़ाई लड़ी लेकिन जीत नसीब नहीं हुई।
वर्ष 2008 में बनी पीस पार्टी ने जहां पिछले चुनाव में गोरखपुर-बस्ती मंडल से 2 सीटें खलीलाबाद व डुमरियागंज जीतीं थीं, लेकिन इस बार खाता भी नहीं खुला सकी। सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने पीस पार्टी के वोटों में जमकर सेंधमारी की। पीस पार्टी ने इस बार गोरखपुर-बस्ती मंडल में 13 प्रत्याशी  उतारे थे। गोरखपुर मंडल में 8 व बस्ती मंडल 5 प्रत्याशी उतारे थे। पीस पार्टी ने कई छोटें दलों के साथ गठबंधन भी किया था। लेकिन सारी जुगत बेकार साबित हुई। पार्टी में डा. अयूब के अलावा एक भी जनाधार वाला नेता नहीं है। लेकिन इस बार उनका  जनाधार भी काम नहीं आया।  गोरखपुर शहर की सीट पर पार्टी ने प्रत्याशी खड़ा किया वह भी नाकाम हुआ।।
पिछले विस चुनाव में प्रदेश से चार सीट निकालने वाली पीस पार्टी ने गोरखपुर-बस्ती मंडल में 37 सीटों पर प्रत्याशी खड़ें किए थे लेकिन दो कामयाब हुए थे। पार्टी ने जमकर वोट काटा था और कहीं दूसरा तो कहीं तीसरा, पांचवा व छठवां स्थान हासिल किया था। गोरखपुर की नौ विधान सभा सीटों की चार सीटों में जमकर सेंधमारी की थीं जिससे परिणाम काफी हद तक प्रभावित हुए । इस पार्टी के गोरखपुर ग्रामीण से छेदी लाल ने 8490मत प्राप्त कर 5वां, सहजनवां से सुरेंद्र कुमार ने 16232 मत प्राप्त कर 5वां, खजनी से 4736 मत प्राप्त कर 5वां, चौरी चौरा में हरीलाल ने 9438 मत प्राप्त कर 5वां स्थान पाया।
लेकिन इस बार हालात  मुख्तलिफ थें  बड़े दलों के वोट बैंक में सेंधमारी करने वाली उप्र की पांचवी सबसे बड़ी पीस पार्टी के वोट बैंक में अबकी सेंधमारी तय मानी जा रही थीं  यह सेंध सांसद असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई में उनकी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने लगायी।
पीस पार्टी के गोरखपुर-बस्ती मंडल में  इस बार के प्रत्याशी जो लड़े और चुनाव हार गये
1. शोहरतगढ़ – राधा रमण त्रिपाठी
2. डुमरियागंज – अशोक कुमार सिंह
3. रुधौली – राजीव कुमार पांडेय
4. मेंहदावल – इं. मोहम्मद इरफान
5. खलीलाबाद – डा. मो. अय्यूब
6. सिसवां – यश त्रिपाठी
7. गोरखपुर शहर – अरुण कुमार श्रीवास
8. पडरौना – राजेंद्र
9. फाजिलनगर – अजीमुल्लाह
10. कुशीनगर – सतवंत यादव
11. देवरिया – विजय प्रताप यादव
12. पथरदेवा – हारुन अली
13. सलेमपुर – मुन्नीलाल पासवान

Leave a Comment