पूर्वाञ्चल सेना ने उद्घोष पदयात्रा कर पूर्वाञ्चल राज्य का मुद्दा उठाया

गोरखपुर, 26 फरवरी। पूर्वाञ्चल सेना ने 24 फरवरी को शास्त्री चौक से अम्बेडकर चौक तक ” जो अलग राज्य की बात -करेगा वही पुर्वांचल पर राज करेगा ” उद्घोष पदयात्रा निकालकर इस चुनाव में भुला दिए गए पूर्वाञ्चल राज्य गठन के मुद्दे को राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों को याद दिलाया ।
पदयात्रा में शामिल पुर्वांचल सैनिको का कहना था कि अलग पुर्वांचल राज्य गठन जैसे अति महत्वपूर्ण और आवश्यक मुद्दे को राजनितिक पार्टीयो ने साजिशन भुला दिया है, पर हम उन्हें याद दिलाते रहेंगे और पुर्वांचल विरोधियो को आगामी 27 फ़रवरी और 4 मार्च बहुत भारी पड़ने वाला है ।
कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे पुर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने कहा कि अलग राज्य निर्माण का मुद्दा सीधे सीधे यहाँ के समग्र विकास, यहाँ के युवाओं को रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य का मुद्दा है, खेद है कि राजनितिक पार्टिया जाति व् धर्म के नाम की राजनीति को जिन्दा रखने हेतु पूर्वञ्चा राज्य गठन को मुद्दा नहीं बनने देना चाहती। उन्होंने कहा विकास शून्य हो चुके इस पुर्वांचल परिक्षेत्र को अंग्रेजो ने लेबर जोन बनाया था और आजादी के 7वे दशक में भी हम लेबर बने हुए है। उन्होंने कहा कि यहाँ की महामारी इंसेफेलाइटिस, बंद होती चीनी मिलें , बढ़ता माफियावाद, बढ़ती बेरोजगारी, उच्च शिक्षा संसाधनों का अभाव, लचर कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों को उठाने की बजाये ये हमें गाय-गोबर-गधे जैसी बातों में उलझाये रखना चाहते है। उन्होंने कहा कि हम पूर्वाञ्चल वासियो से आग्रह करते है कि वे पूर्वाञ्चल राज्य निर्माण के लिए संघर्षरत उम्मीदवारों को वोट देकर, पूर्वाञ्चल की  उपेक्षा का जवाब बैलेट से दें  ताकि पूर्वाञ्चल राज्य का मुद्दा भुला चुके दलों को सबक मिले और अलग राज्य आंदोलन को बल मिले ।
इस अवसर पर महासचिव प्रणय श्रीवास्तव , रोहन यादव, संतोष कुमार, नीरज कुमार भारती, शिवम पांडे, अमन खान, अजय कुमार, सत्येंद्र, रविंद्र कुमार, शुभम सिंह, शहबाज मिर्जा , ओमकार, रमेश थापा, तेजेन्द्र मणि, इंद्रप्रकाश निगम, दीपक तिजोरी, बालमुकुंद वर्मा, सहित भारी संख्या में सेना कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Comment

Skip to toolbar