पूर्व बसपा विधायक राम प्रसाद जायसवाल का निधन

  • 4
    Shares

देवरिया, 19 फ़रवरी। देवरिया के बरहज से बसपा के पूर्व विधायक और एन आर एच एम घोटाले के आरोपी राम प्रसाद जायसवाल की कल रात मेंदाता में इलाज के दौरान मौत हो गई। वह ह्रदय और गुर्दा रोग से पीड़ित थे।

उनके बेटे मुरली मनोहर जायसवाल बरहज से सपा उम्मीदवार हैं।

राम प्रसाद जायसवालका राजनीतिक करियर 1995 से शुरु हुआ था। वर्ष 2000 में उनकी पत्नी बारहज नगर पालिका की अध्यक्ष चुनी गईं। फिर वह 2002 विधान सभा का चुनाव लड़े लेकिन हार गए। वर्ष  2007 में बसपा के टिकट पर विधायक चुने गए। वह बसपा सरकार में बहुत शक्तिशाली विधायक थे और पूरा देवरिया जिला प्रशासन उनके इशारे पर काम करता था। वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में अपने पिता गोरख प्रसाद जायसवाल को बसपा से चुनाव लड़ाया और जिताया। उनकी राजनीतिक ताकत का खुला प्रदर्शन लोगों ने तब देखा जब उनके बेटे का बरहज में तिलकोत्सव का कार्यक्रम हुआ। तबके पुलिस कप्तान ने जिले के सभी थानेदारों की बावर्चीखाने से लेकर आतिशबाज़ी, अतिथियों के स्वागत में लगा दिया था और इसके लिए लिखित आदेश जारी किया था।

उन पर कई बार राजनीतिक विरोधियों का उत्पीड़न करने का आरोप भी लगा।

एनआरएचएम घोटाले में फँसने के बाद उनके पराभव का दौर शुरू हुआ। वह न सिर्फ जेल गए बल्कि 2012 का विधान सभा चुनाव उनकी पत्नी रेनू जायसवाल हार गईं। उन्हें करीब साढ़े तीन वर्ष जेल में रहने के बाद जमानत मिली। कुछ दिन बाद उन्हें फिर जेल जाना पड़ा। इसी 12 फरवरी को उन्हें जमानत मिली थी। तबीयत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

Leave a Comment

Skip to toolbar