समाचार स्वास्थ्य

पैसे की कमी तो हो गई है स्वास्थ्य मंत्री जी !

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर

बीआरडी मेडिकल कालेज में संविदा पर कार्यरत 500 चिकित्सकों, नर्सो व कर्मचारियों को कई महीने से वेतन नहीं मिल रहा
गोरखपुर, 26 अक्टूबर। पिछले महीने बीआरडी मेडिकल कालेज आए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्ढ़ा और उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने कहा था कि मेडिकल कालेज को धन की कमी नहीं होने दी जाएगी। यह बातें बार-बार कही गई लेकिन वास्तिवकता यह है कि मेडिकल कालेज में संविदा पर कार्य कर रहे 500 से अधिक चिकित्सकों, नर्सों, कर्मचारियों को कई माह से वेतन तक नहीं मिल पा रहा है।
बीआरडी मेडिकल कालेज में भूतपूर्व सैनिक कल्याण निगम के जरिए संविदा पर नियुक्त 120 नर्सों को छह महीने से और सपोर्टिंग स्टाफ को सात माह से वेतन नहीं मिला है।
इसी तरह एनआरएचएम के तहत संविदा पर कार्य करने वाले 275 नर्सों व कर्मचारियों को तीन माह से वेतन नहीं मिला है। इंसेफेलाइटिस से शारीरिक व मानसिक रूप से विकलांग व्यक्तियों के इलाज व पुनर्वास के लिए स्थापित पीएमआर प्रिवेंटिव मेडिसिन एवं रिहैबिलेटेशन विभाग में कार्यरत 17 चिकित्सकों व स्टाफ को पिछले दो वर्ष से वेतन नहीं मिला है। यही हाल ट्रामा सेंटर में कार्य कर रहे 97 नर्सों, कर्मचारियों का है।

इनमें से अधिकतर नर्सें व कर्मचारी इंसेफेलाइटिस वार्ड में तैनात हैं।
इस तरह करीब 500 चिकित्सक, नर्स व कर्मचारी महीनों से बिना वेतन पाए काम करने को मजबूर हैं। दीपावली नजदीक आने पर नर्सों व कर्मचारियों की बेचैनी बढ़ती जा रही है। बीआरडी मेडिकल कालेज संविदा कर्मचारी संघर्ष समिति ने प्राचार्य के जरिए मुख्यमंत्री व केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर जल्द से जल्द वेतन भुगतान कराने की अपील की है।

Add Comment

Click here to post a comment