प्रियंका गांधी ने कहा था, नहीं दे सकती 53 हजार किराया, दिए महज 8888 रुपए

हाल ही में आए एक आरटीआई के जवाब में इस बात का खुलासा हुआ है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी ने दिल्ली में स्थित अपने सरकारी आवास के लिए 14 साल पहले वाजपेयी सरकार को महज 8,888 रुपए ही बतौर किराया देने के लिए राजी कर लिया था। जबकि उस वक्त इस बंगले का किराया बाजार भाव के मुताबिक 53,421 रुपए निर्धारित किया गया था। प्रियंका का यह बंगला दिल्ली के लुटियंस इलाके में मौजूद था जो करीब 2,765 वर्ग मीटर में फैला हुआ था।

वीवीआई सुरक्षा के मद्देनजर प्रियंका गांधी को यह सरकारी बंगाल दिया गया था लेकिन उन्होंने बंगले का किराया ज्यादा होने का हवाला देते हुए तात्कालिक प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी को 7 मई 2002 में एक पत्र लिखा था जिसमें उन्होंने बंगले के निर्धारित किराए 53,421 रुपए को उनके हैसियत से ‘बहुत ज्यादा’ बताया था। प्रियंका गांधी ने सरकार के सामने यह तर्क रखा था कि उन्हें यह बंगला एसपीजी सुरक्षा के तहत मुहैया कराया गया है और इसके ज्यादातर हिस्से का इस्तेमाल सुरक्षा में तैनात जवान ही करते हैं और उनका परिवार इसका इस्तेमाल नहीं करता।

Leave a Comment

Skip to toolbar