समाचार

बच्चों की मौत की जाँच करने बीआरडी पहुंची राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव

बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर
गोरखपुर, 1 सितम्बर. इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्देश पर शुक्रवार को राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव जी श्री देवी ने बीआरडी मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत के मामले की जांच की। हाईकोर्ट में 11 अगस्त को बीआरडी में हुई बच्चों की मौत के मामले में एक जन हित याचिका पर सुनवाई चल रही है।
मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने मेडिकल कालेज में डॉक्‍टरों से इस प्रकरण पर पूरी जानकारी ली। उन्होंने इंसेफेलाइटिस वार्ड, ऑक्‍सीजन स्‍टोर, आईसीयू और मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग का निरीक्षण भी किया तथा वहां कार्यरत डाक्टरों और कर्मियों से उपलब्ध सुविधाओं के बारे में पूछताछ की। निरीक्षण के उपरान्त मेडिकल कालेज के प्राचार्य से उनके कार्यालय में मुलाकात की। इस दौरान गोरखपुर के सीजेएम और सिटी मजिस्ट्रेट भी मौजूद रहे।
मालूम हो कि  बी आर डी मेडिकल कालेज में आक्सीजन की कमी के कारण बच्चों की मौत पर दाखिल जन हित याचिका पर गुरुवार को सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट इलाहाबाद ने पूरे प्रकरण की जांच स्वतंत्र रूप से कराने का आदेश दिया था। जनहित याचिका दाखिल करने वाले लोकेश खुराना के अधिवक्ता के के राय ने बताया कि  चीफ जस्टिस श्री डॉ डी बी भोसले और जस्टिस मनोज गुप्ता की खण्ड पीठ ने याची के अधिवक्ताओं केके राय व चार्ली प्रकाश तथा राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता मनीष गोयल की बहस सुनी। इसके बाद चीफ जस्टिस  डॉ डी बी भोसले और जस्टिस मनोज गुप्ता ने पूरे प्रकरण की जांच स्वतंत्र रूप से कराने का आदेश किया और राज्य विधिक सेवा अधिकरण की सचिव की अध्यक्षता में गोरखपुर जाकर वस्तु स्थिति का आंकलन कर रिपार्ट देने को कहा है जिसकी अगली सुनवाई 12 सितम्बर को होगी । खण्ड पीठ ने सरकार द्वारा गठित जांच समिति से असन्तुष्टि जाहिर की और लगातार हो रही मौतों पर चिंता जाहिर की।

Add Comment

Click here to post a comment