समाचार

बच्चों की मौत से आक्रोशित भाकपा माले, आमी बचाओ मंच, अम्बेडकरवादी छात्रसभा ने गोरखपुर बंद कराया

विजय चौराहे की तरफ जाते समय पुलिस ने किया गिरफ्तार

गोलघर के व्यापारियों ने समर्थन में कई घंटे तक दुकानें बंद रखीं

प्रदर्शन करने के बाद सभा कर रहे अम्बेडकरवादी छात्रसभा के अध्यक्ष अमर पासवान को पुलिस ने गिरफ्तार किया 
गोरखपुर, 14 अगस्त। बीआरडी मेडिकल कालेज में बड़ी संख्या में बच्चों की मौत से आक्रोशित भाकपा माले, आमी बचाओ मंच, अम्बेडकरवादी छात्रसभा सहित कई संगठनों ने आज गोरखपुर बंद का आह्वान करते हुए शहर में मार्च किया। बंद का आह्वान का समर्थन करते हुए काली मंदिर से गणेश तिराहा, गोलघर, कलेक्टेट चैराहा और टाउनहाल तक व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद रखी। गणेश तिराहे से विजय चैराहे की तरफ मार्च करते हुए माले कार्यकर्ताओं व दूसरे संगठनों के चार दर्जन लोगों को पुलिस ने गिरफतार कर लिया और उन्हें शाम सात बजे तक पुलिस लाइन में हिरासत में रखा। विश्वविद्यालय गेट पर अभ कर रहे अम्बेडकरवादी छात्रसभा के अध्यक्ष अमर पासवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

20798989_10209851476666995_1520367291063857839_n
कांग्रेस और सपा कार्यकर्ताओं ने भी बच्चों की मौत पर दुख और क्षोभ प्रकट करते हुए धरना दिया।
भाकपा माले कार्यकर्ता गोरखपुर बंद की अपील करते हुए पूर्वान्ह 11 बजे पार्टी कार्यालय से निकले। मामले कार्यकर्ताओं की अपील पर दुकानदारों ने दुकान बंद कर ली और उन्हें समर्थन दिया। काली मंदिर पर आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्वविजय सिंह और उनके तमाम सहयोगी साथ आए और फिर सभी मार्च करते हुए आगे बढ़े।

बंद 4

गणेश तिराहा, गोलघर, कलेक्टेट चैराहा होते हुए सभी लोग टाउनहाल पहुंचे और फिर वापस चेतना तिराहे तक आए। इस बीच पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो माले नेता राजेश साहनी, इंकलाबी नौजवान सभा के राकेश सिंह, आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्वविजय सिंह सहित 40 लोग सड़क पर बैठ गए और धरना देने लगे।

बंद 2

यहां पर बंद समर्थकों की पुलिस से धक्का मुक्की हुई। इसके बाद पुलिस ने सभी को गिरफतार कर लिया और पुलिस लाइन्स भेज दिया। यहां पर इन्हें शाम सात बजे तक रखा गया। बाद में भाकपा माले की सेन्टल कमेटी की सदस्य कृष्णा भारती भी पुलिस लाइन्स पहुंच गई और उन्होंने बंद समर्थकों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह से इस्तीफे की मांग की।

उधर “आक्सीजन चोरो को फांसी दो”, “छात्रनेताओ को रिहा करो”, “मासूमो के हत्यारों को फांसी दो”, “गोरखपुर  बंद रहेगा” जैसे नारो के साथ गोरखपुर विश्वविद्यालय के छात्रावासी विद्यार्थियों ने आज आक्रोश मार्च निकाला ।

प्रोटेस्ट

छात्र संघ अध्यक्ष अमन यादव, डॉ राजेश यादव , कुलदीप ,राजीव सहित छात्र  नेताओं ने विरोध में उन्हें काले झंडे दिखाए तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर मारा- पीटा और गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।
मेडिकल कॉलेज की इस घटना के जिम्मेदारों की गिरफ्तारी व छात्र नेताओं की रिहाई के लिए अम्बेडकरवादी छात्रसभा के अध्यक्ष अमर पासवान , कमलेश यादव के नेतृत्व में गोरखपुर विश्वविद्यालय के छात्रावशी सैकड़ो की संख्या में विश्विद्यालय को गेट तक नारेबाजी करते हुए पहुचे और सभा की ।
सभा का संचालन अमर पासवान ने किया। सभा को डॉ हितेश सिंह, अन्नू प्रसाद, कमलेश यादव, अमित गुप्ता, संतोष कुमार ने संबोधित किया. सभा के दौरान  भारी पुलिस बल विश्वविद्यालय गेट पहुची और अमर पासवान को गिरफ्तार कर लिया।

Add Comment

Click here to post a comment