समाचार

बीआरडी मेडिकल कालेज के एमबीबीएस छात्र ने की खुदकुशी

गोरखपुर। बीआरडी मेडिकल कालेज से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे तृतीय वर्ष के 22 वर्षीय छात्र सुमित सिद्धार्थ का शव मंगलवार की सुबह साढ़े दस बजे उसके न्यू यूजी छात्रावास के कमरा नं. 119 में पंखे से लटकता मिला. छात्र द्वारा खुदकुशी का कारण डिप्रेशन माना जा रहा है.
चार महीने के अंदर बीआरडी मेडिकल कालेज में आत्महत्या का यह दूसरी घटना है.
बीआरडी मेडिकल कॉलेज के न्यू यूजी छात्रावास के कमरा नम्बर 119 में मंगलवार सुबह फंदे से झूलते छात्र का शव मिलने से कालेज परिसर में सनसनी फैल गई. रविवार रात उसके दोस्तों ने उसे रात का खाना खाते देखा था उसके बाद से वह नजर नहीं आया. सोमवार को पैथोलॉजी का पेपर देने सिद्धार्थ के एक्जामिनेशन हाल में नहीं पहुंचने पर साथी छात्रों व कक्ष निरीक्षक ने इसकी सूचना प्राचार्य को दे दी थी.
मंगलवार की सुबह तक छात्र सिद्धार्थ के नजर न आने पर बगल के कमरे में रहने वाले सहपाठियों ने उसके कमरे का दरवाजा पीटकर उसे आवाज दी। कोई जवाब न मिलने पर आसपास के कमरों के छात्र वहां जमा हुए. दरवाजे के ऊपर लगी जाली से छात्रों ने झांककर देखा तो छात्र सुमित सिद्धार्थ का शव पंखे से लगे फंदे से लटकता दिखा.
लखनऊ निवासी सिद्धार्थ के पिता राजेंद्र प्रसाद और मेडिकल कालेज चौकी पुलिस को कॉलेज प्रशासन ने इस घटना की सूचना दी. राजेंद्र प्रसाद इलाहाबाद में एजी कार्यालय में तैनात हैं. शव से आ रही दुर्गंध के कारण पुलिस का मानना है कि छात्र सुमित ने रविवार देर रात यह कदम उठाया होगा. जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे एसपी नार्थ गणेश साहा ने छात्र के कमरे की बकायदे तलाशी ली लेकिन कहीं भी कोई सुसाइड नोट नहीं मिला. एस पी नार्थ ने फिंगर एक्सपर्ट व फोरेंसिक एक्सपर्ट टीम को भी कमरे की तफ्तीश के काम में लगा दिया.

इस बाबत एसपी नार्थ गणेश साहा ने बताया कि उसके पिता अपने ड्यूटी स्थल से और घर के शेष सदस्य लखनऊ से चल दिए हैं. देर शाम तक गोरखपुर पहुंचेंगे। उनके आने के बाद ही पोस्टमार्टम कराया जायेगा. प्रथम दृष्टया मामला डिप्रेशन से आत्महत्या का लग रहा है.

Add Comment

Click here to post a comment