समाचार

बीआरडी मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल आफिस में आग लगी, तमाम फाइलें जलीं

आक्सीजन कांड की जांच से जोड़ा जा रहा है आग की घटना को
आग के कारणों की जांच के लिए कमेटी बनायी गई
गोरखपुर, 8 जनवरी। बीआरडी मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल, रिकार्ड और एकाउंट आफिस में आज सुबह आग लग गई। आग से दोनों दफतरों में तमाम फाइलें, दस्तावेज जल गए। दमकल गाड़ियों ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाया नहीं तो आग से पहली मंजिल पर स्थित लाइब्रेरी को भी काफी नुकसान पहुंचता। आग के कारणों का पता नहीं चल सका है और प्रशासन ने मुख्य अग्निशमक अधिकारी की अगुवाई में जांच कमेटी बनायी है जो आग के कारणों की जांच करेगी।
प्रिंसिपल और एकाउंट आफिस में आग को आक्सीजन कांड की जांच से जोड़ा जा रहा है। कहा जा रहा है कि जांच से सम्बन्धित संवेदनशील फाइलों को छुपाने के लिए एक षडयंत्र के तहत आग की घटना को अंजाम दिया गया गया है।

आग सुबह नौ बजे लगी। आग की लपटें काफी तेज थीं। प्रिंसिपल के कमरे और उनके आफिस के अलावा रिकार्ड रूम, एकाउंटेट आफिस व पहली मंजिल के कुछ कमरों से आग की लपटें दिखाई दे रही थीं। आग की सूचना पर दमकल की आधा दर्जन गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग बुझाने का काम शुरू किया। जब तक आग पर काबू पाया जाता, बड़ी संख्या में दस्तावेज जलकर खाक हो चुके थे।

मौके पर एसपी नार्थ गणेश साहा भी पहुंचे। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है। आग के कारणों की जांच के लिए सीएफओ की अध्यक्षता में जांच समिति गठित की गई है।

आग की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए थे। सभी इस बात की चर्चा कर रहे थे कि आक्सीजन कांड की जांच से इस अग्निकांड के तार जुड़े हैं। आक्सीजन कांड में तीन डाॅक्टरों समेत 9 लोग इस समय जेल में है और विवेचना अधिकारी सीओ कैंट अभिषेक सिंह ने अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी है। विवेचना अधिकारी ने जांच का दायरा आक्सीजन सप्लाई के टेंडर तक बढा दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विवेचना अधिकारी लिक्विड आक्सीजन की सप्लाई के टेंडर से जुड़े दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं। इस सम्बन्ध में उन्होंने तत्कालीन प्राचार्य सहित कई अन्य लोगों का बयान दर्ज किया था। वह इस मामले में पूरक चार्जशीट भी दाखिल करने वाले हैं।
विवेचना अधिकारी अभिषेक सिंह से जब गोरखपुर न्यूज लाइन ने इस सम्बन्ध में पूछा तो उन्होंने अपने को मीटिंग में व्यस्त बताया।
आग से नुकसान के सम्बन्ध में जब गोरखपुर न्यूज लाइन ने प्राचार्य प्रो गणेश कुमार से सम्पर्क किया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि आग से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। प्राचार्य प्रो गणेश कुमार अवकाश पर हैं।

Add Comment

Click here to post a comment