Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » बीआरडी मेडिकल कालेज में बेड पड़े कम, 208 बेड पर रखे गए हैं 370 मरीज
फ़ाइल फोटो
फ़ाइल फोटो

बीआरडी मेडिकल कालेज में बेड पड़े कम, 208 बेड पर रखे गए हैं 370 मरीज

इंसेफेलाइटिस से 24 घंटे में चार और बच्चों की मौत
गोरखपुर, 24 अगस्त। इंसेफेलाइटिस मरीजों की बढ़ती भीड़ से बीआरडी मेडिकल कालेज के नेहरू अस्पताल में बेड कम पड़ने लगे हैं। बीते 24 घंटे में चार बच्चों समेत पांच की मौत हो गई जबकि 20 नए मरीज भर्ती कराए गए।
इसके साथ ही इस वर्ष इंसेफेलाइटिस से मरने वालों की संख्या 180 हो गई है। अब तक 687 मरीज इलाज के लिए आ चुके हैं। जांच में 32 मरीजों में जापानी इंसेफेलाइटिस से प्रभावित पाए गए हैं।
बीआरडी मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग के पास 208 बेड है। इसमें 100 बेड का इंसेफेलाइटिस वार्ड, 54 बेड का इंसेफेलाइटिस वार्ड तथा 54 बेड वाल पुराना वार्ड संख्या 6 है। इस वक्त इन वार्डो में इंसेफेलाइटिस से पीडि़त 107 बच्चे भर्ती हैं। अन्य रोगों से ग्रसित 203 बच्चे भी यहां भर्ती हैं। इस तरह 208 बेड के मुकाबले मरीजों की संख्या 370 हो गई है। इससे बाल रोग विभाग के इन वार्डो की व्यवस्था चरमरा गई है। वार्ड संख्या 12 में एक-एक बडे पर दो से तीन बच्चों को रखा गया है। इस वार्ड का सेन्टल एसी खराब है जिसके कारण इलाज के लिए भर्ती बच्चों और उनके परिजनों को बुरा हाल है। सेन्टल एसी होने के कारण वार्ड में पंखे भी नहीं लगे हैं। परिजन हाथ वाले पंखे से बच्चों को राहत देने की कोशिश कर रहे हैं।
बीते 24 घंटे में बिहार निवासी 12 वर्षीय संदीप, बस्ती निवासी 16 वर्षीय मुकेश, गोरखपुर निवासी पांच वर्षीय दीनदयाल और महराजगंज निवासी 5 वर्षीय नितेश की इंसेफेलाइटिस से मौत हो गई। वार्ड संख्या 14 में भर्ती संतकबीर नगर निवासी 40 वर्षीय रीता की भी इंसेफेलाइटिस से मौत हो गई।
नितेश वर्ष 2013 में भी इंसेफेलाइटिस से पीडि़त होकर बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती हुआ था। इलाज के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी लेकिन तीन वर्ष बाद वह फिर इस बीमारी की चपेट में आया। इस बार चिकित्सक उसकी जान नहीं बचा सके।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*