Templates by BIGtheme NET
Home » जनपद » बीत रही सर्दी लेकिन परिषदीय विद्यालयों में नही बंटे स्वेटर,जूते-मोज़े
logo_gorakhpur-news-line-2

बीत रही सर्दी लेकिन परिषदीय विद्यालयों में नही बंटे स्वेटर,जूते-मोज़े

सिसवा बाजार।(महराजगंज) 6 जनवरी। परिषदीय विद्यालय के बच्चों के लिए स्वेटर,जूते, मोज़े दिए जाने का निर्णय शासन द्वारा लिया गया था परन्तु अब जनवरी माह भी शुरू हो गया पर अभी तक स्कूलों में इनमें से कोई सामग्री नहीं बंट सकी है।
परिषदीय विद्यालयों में बच्चों के हित के लिए चलाये जा रहे कोई भी योजना अभी तक सफल नही हो पा रहा है.जहाँ मध्याहन भोजन में सप्ताह में एक दिन दूध या फल बांटने की योजना अभी तक फ्लॉप शो साबित हुए है। बच्चों को ठण्ड से बचाने के लिए स्वेटर जूते मोज़े भी दिए जाने का योजना है परंतु जनवरी का पहला सप्ताह बीतने को है लेकिन जिले के किसी भी स्कूल में ये सामग्रियां वितरित नही हो पाई है।बच्चे व अभिभावक इन सामग्रियों के मिलने का आस लगाए बैठे है।

पहले इस बात की चर्चा थी ये सभी सामग्रियां विभाग द्वारा सभी विद्यालयो पर भेजी जाएगी परंतु इस दौरान विभाग ने निर्देश जारी किया है कि अब स्कूल के शिक्षक बच्चों के स्वेटर की खरीद कर खुद बच्चो में वितरित करेंगे जिस के लिए विभाग विद्यालय के प्रबंधसमिति के खातों में धन भेज जा रही है।इसके लिए 30 जनवरी के अंदर बच्चों को स्वेटर देने का समयसीमा भी निर्धारित किया गया है।परंतु जिस तरह की कच्छप गति से कार्यगुजरिया चल रही है नही लगता कि इतनी जल्दी इसे अमल में लाया जा सकता है।जब तब सारी कार्यवाही पूरी की जायेगी तब तक ठण्ड का सीजन भी समाप्त हो जायेगा और इस योजना का लाभ इस मौसम में बच्चो को नही मिल पायेगा।जब की शिक्षकों में ये भी चर्चा में है की जूते मोज़े बीआरसी पर आ गया है परंतु किसी भी विद्यालय को उपलब्ध नही कराया गया है।

इस संदर्भ में खण्ड शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र पाल का कहना है स्वेटर वितरण के लिए 3 जनवरी को शासनादेश जारी किया गया है कि विद्यालय प्रबन्ध समिति 200 रुपय मूल्य की स्वेटर खरीद कर कर 30 जनवरी तक बच्चो में वितरित कर दें। परन्तु समिति के खातों में अभी तक धन उपलब्ध नही हुआ है। मोज़े बीआरसी पर आ चुके है जैसे ही जूते आ जाते है उसके बाद वितरण कर दिया जायेगा।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*