समाचार

बैंक पर भीड़ में दबकर बुजुर्ग किसान की मौत, लोगों ने किया प्रदर्शन

लोगों के दबाव पर बैंक मैनेजर के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज
कुशीनगर, 7 फरवरी। दुदही स्थित पंजाब नैशनल बैंक की शाखा में सोमवार की सुबह दस बजे धन निकासी के लिए कतार में लगे साठ वर्षीय किसान दुलार गुप्ता की भीड़ में दबकर मौत हो गई। इस घटना के बाद लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू भी पहुंच गए। लोगों और विधायक के दबाव में पुलिस ने बैंक मैनेजर के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया और पीडि़त परिवार को मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद ही लोगों का गुस्सा शांत हुआ।

84114b8c-965a-4de1-a8e7-e01c4082c062

बैंक पर प्रदर्शन करते लोग

दुदही ब्लाक के रामपुर बरहन गांव के पिपरही टोला निवासी दुलार गुप्ता छोटे किसान हैं। उनके बेटे बाहर रहकर मजदूरी करते हैं। उनके उपर कुछ लोगों का कर्ज था जिसको चुकता करने के लिए वह बार-बार बैंक आकर अपने खाते से पैसा निकालने की कोशिश कर रहे थे। अक्सर भीड़ के कारण लौट जाना पड़ता था। सोमवार की सुबह ही वह गांव से बैंक चले और लाइन मे लग गए। बैंक पर बहुत भीड़ थी जिसके कारण वह भीड़ में दब गए। बैंक का गेट खुलने पर वह किसी तरह धक्का खाते हुए अंदर तो आए गए लेकिन कुछ देर बाद ही वह अचेत होकर गिर पड़े और जब तक उन्हें चिकित्सकीय सहायता पहुंचाई जाती उनकी मौत हो गई।

bc9bc2cf-6213-46ac-8f09-6817bed3e324 (1)

दुलार गुप्ता का बैंक खाता

इस घटना के बाद लोगों बैंक पर प्रदर्शन करने लगे। उनकी मांग थी कि बैंक प्रबंधन पर मुकदमा दर्ज कराया जाय और पीडि़त परिवार को मुआवजा दिया जाय। एसडीएम और सीओ मौके पर पहुंच गए और लोगों को शांत कराने व शव ले जाने की कोशिश करने लगे लेकिन लोगों ने शव को ले जाने नहीं दिया।

अधिकारियों से बात करते कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू

अधिकारियों से बात करते कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू

इसी बीच तमकुही के कांग्रेस विधायक अजय कुमार लल्लू भी वहां पहुंच गए और लोगों की मांग पूरा करने के लिए दबाव बनाया। आखिरकार पुलिस ने बैंक के मैनेजर संदीप श्रीवास्तव के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद ही लोगों का गुस्सा शांत हुआ। बैंक मैनेजर का कहना था कि दुलार की मौत बीमारी से हुई है।
इसी बैंक में दिसम्बर माह में लाइन में लगी एक महिला के बच्चे की भी मौत हो गई थी। बच्चा बीमार था और महिला बैंक से पैसे निकालने आयी थी। सुबह से लाइन में लगने के बाद दोपहर बाद किसी तरह उसे पैसा मिल पाया और बच्चे को लेकर व अस्पताल पहुंची। तब तक उसके बच्चे की मौत हो चुकी थी।
रामदुलार के बेटे नरेश ने बताया कि पिता सुबह ही बैंक के लिए चले थे। उसके भाई बाहर रहकर कमाते हैं। उन्होंने कुछ पैसे बैंक में भेजे थे जिसे पिता निकालना चाहते थे।
दुदही में सबसे पुराना बैंक पंजाब नेशनल बैंक ही है। इसमें 70 हजार लोगों के खाते हैं। बिहार बार्डर के नजदीक होने के कारण बिहार के लोगों का भी इस बैंक में खाता है। बैंक भवन का परिसर बहुत छोटा है और बमुश्किल 200 लोग ही इसके अंदर आ सकते हैं। सामान्य दिनों में भी इस बैंक में बहुत भीड़ होती और लोगों को धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ता है। नोटबंदी के बाद हालात और खराब हो गए और बैंक पर भीड़ पहले के मुकाबले कई गुना बढ़ गई। बैंक प्रबंधन द्वारा स्टाफ बढ़ाने और बैंक के लिए और ज्यादा जगह वाले स्थान का चयन करने की मांग अपने अफसरों द्वारा लगातार की जा रही थी लेकिन अभी तक यह मांग पूरी नहीं हो सकी है।

Leave a Comment