भीमा-कोरेगांव में दलितों पर हमले के खिलाफ भाकपा माले का मऊ, देवरिया सहित कई स्थानों पर प्रदर्शन

लखनऊ, 7 जनवरी। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) की राज्य इकाई ने महाराष्ट्र के भीमा-कोरेगांव में दलितों पर हमले की कड़ी निंदा की है और पूरे प्रकरण के लिए फडणवीस सरकार समेत संघ-भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। पार्टी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री द्वारा घटना की न्यायिक जांच कराने की घोषणा को समयबद्ध करने और दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की है। पार्टी के आह्वान पर कार्यकर्ताओं ने मऊ, देवरिया सहित कई स्थानों पर प्रदर्शन किया.
पार्टी राज्य सचिव सुधाकर यादव ने कहा कि संघ-भाजपा दलित प्रेम का नाटक करते हैं जिसे भीमा-कोरेगांव की घटना ने एकबार फिर से बेनकाब किया है। उत्तर प्रदेश में भी भाजपा शासन में हुए सहारनपुर के शब्बीरपुर कांड में हमले के शिकार दलितों को न्याय नहीं मिला। बल्कि इसका प्रतिवाद करने वाले दलितों के संगठन भीम आर्मी के युवा नेता चंद्रशेखर आजाद रावण को ही राज्य सरकार द्वारा रासुका में निरुद्ध कर दिया गया। वहीं, महाराष्ट्र में पुणे के निकट भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह पर दलितों के उत्सव के सिलसिले में पहुंचे गुजरात के जाने-माने दलित नेता व भाजपा के खिलाफ लड़कर जीते विधायक जिग्नेश मेवाणी पर ही मुकदमा कायम कर दिया गया। इससे भाजपा सरकारों की कार्यपद्धति का पता चलता है।
माले नेता ने कहा कि दलितों द्वारा पेशवाओं पर विजय की 200वीं सालगिरह मनाना हिंदू राष्ट्र का सपना देखने वाले फासीवादी संगठनों को गवारा नहीं था। इसलिए उन पर हमले कराये गये। ऐसी घटनाएं संघ-भाजपा की विचारधारा की उपज हैं।
भीमा-कोरेगांव में दलितों पर हमले का उत्तर प्रदेश के मऊ शहर में प्रतिवाद करते हुए भाकपा (माले), आइसा और इंकलाबी नौजवान सभा ने बुधवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का पुतला फूंका।अगले दिन भाकपा माले सहित कई वाम दलों ने मिलकर प्रदर्शन किया.
 महाराष्ट्र के भीमा कोरे गांव में दलितों पर हमले के विरोध में देवरिया में शुक्रवार को भाकपा माले ने प्रदर्शन किया। पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत कार्यकर्ता ऐपवा कार्यालय पर जुटे और यहाँ से जुलुस निकाला. जुलुस सिविल लाइंस, मालवीय रोड होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचा। इस दौरान सरकार विरोध नारेबाजी की गई। ऐपवा कार्यालय पर हुई सभा में भाकपा माले के जिला सचिव रामकिशोर वर्मा ने कहा कि भाजपा एकतरफ डॉ. भीमराव अंबेडकर का राग अलापा रहे हैं दूसरी तरफ हिंदूवादी संगठन दलितों पर हमला कर रहे हैं। ऐपवा की जिलाध्यक्ष गीता पांडेय ने कहा कि दलितों का हितैषी बनने का भाजपा ढोंग कर रही है। दलितों पर अत्याचार किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। डॉ. चतुरानन ओझा ने कहा कि भाजपा सरकार तानाशाही पर उतार आई है। 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा को जनता सबक सिखाने के लिए तैयार है। प्रेमलता पांडेय ने कहा कि भीमा कोरे गांव में दलितों पर हुए हमले की न्यायिक जांच होनी चाहिए। लल्लन राय ने कहा कि भाजपा एक तरफ दलितों के हितैषी होने का ढोंग करती है तो दूसरी तरफ हमला करवा रही है। इस दौरान गायत्री देवी, सुमन गोड़, सविता सिंह, शोभा, अरविंद गिरी, अंजली आदि मौजूद रहे ।

Leave a Comment

Skip to toolbar