समाचार

मदरसा बोर्ड की लापरवाही : मार्कशीट ना मिलने से हजारों परीक्षार्थियों का भविष्य  दांव पर

गोरखपुर,24 अगस्त। उप्र मदरसा शिक्षा परिषद् की लापरवाही से हजारों परीक्षार्थियों का भविष्य दांव पर लग गया हैं। मार्कशीट के अभाव में परीक्षार्थी  उच्च शिक्षा में दाखिला लेने से महरुम हो रहे है। रिजल्ट आये करीब दो माह हो गया बोर्ड द्वारा अभी तक मार्कशीट नहीं  भेजी गयी हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मार्कशीट सितम्बर के पहले हफ्ते में मिल सकती है लेकिन जिम्मेदार कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं हैं।
बोर्ड द्वारा आयोजित  मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल, फाजिल की परीक्षा में जनपद से करीब 6000 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए। 12-27 अप्रैल तक चली परीक्षा के लिए शहर में 5 व देहात में 7 परीक्षा केंद्र बनाये गये। 25 जून को बोर्ड की साइट पर रिजल्ट घोषित कर दिया गया लेकिन दो माह होगाए बोर्ड द्वारा मार्कशीट नहीं भेजी गयी जिस वजह से छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा में प्रवेश लेने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा हैं। उच्च शिक्षण संस्थाओं में दाखिला प्रकिया अंतिम चरण में हैं। परीक्षार्थी  व अभिभावक मदरसों का चक्कर लगाने पर मजबूर हैं। मदरसा शिक्षक नवेद आलम ने बताया कि मार्कशीट के अभाव में बच्चे मनपसंद जगह प्रवेश लेने से वंचित हो जा रहे है। कुछ छात्र ऐसे भी आ रहे है जिन्होंने पूरा इम्तेहान दिया हैं लेकिन बोर्ड की साइट पर उन्हें अनुपस्थित दिखाया जा रहा हैं।  हर रोज बच्चे आ रहे हैं. आश्वासन देकर वापस लौटाया जा रहा हैं।
इस वर्ष बोर्ड ने नकल रोकने के लिए पहली बार  परीक्षा केन्द्र राजकीय स्कूलों में बनाया जिसका मदरसा प्रबंधकों ने काफी विरोध किया था।