Templates by BIGtheme NET
Home » जीएनल स्पेशल » महराजगंज जिले में चार वर्ष में भी पूरी नहीं हो पायीं 13 पेयजल परियोजनाएं
IMG_20170903_165208

महराजगंज जिले में चार वर्ष में भी पूरी नहीं हो पायीं 13 पेयजल परियोजनाएं

– परियोजना लागत 36.80  करोड़ के सापेक्ष 22.73 करोड़ मिलने के बाद भी धीमी गति से हो रहा है काम

भूमि विवाद में फंसी सांसद आदर्श गाँव बड़हरामीर की पेयजल परियोजना

आर एन शर्मा

महराजगंज , 26 अक्तूबर. जनपद में पेयजल की 13 परियोजनायें चार वर्ष में भी पूरी नहीं हो सकी हैं. इंसेफेलाइटिस प्रभावित जिला होने के कारण यह परियोजनाएं बहुत महत्वपूर्ण हैं लेकिन इसके बावजूद इनके निर्माण की सुस्ती सरकार और प्रशासन की गंभीरता पर सवाल खड़े करती है.

सभी परियोजनाओं की लागत  36 करोड़ 79 लाख 99 हजार  है जिसके सापेक्ष जल निगम  को 22 करोड़ 73 लाख 75 हजार प्राप्त भी हो गया है, फिर भी समय से कम पूरा न होना गंभीर चिंता का विषय है।
शासन ने ग्राम पंचायत  कटहरा, परतावल, डोमा, शीतलापुर, गोपाला, खेसरारी, सिन्दुरिया, बांसपार बैजौली, करमहा, चौक, बेलवा, मनिकौरा तथा बड़हरामीर के लिए पेयजल परियोजना संचालित कराने की मंजूरी दी।
विभाग ने सभी 13 ग्राम पंचायतों में पेयजल परियोजना के लिए  कुल 36.79 करोड़ का इस्टीमेट  भेजा। जिसके सापेक्ष शासन ने जल निगम विभाग को 22.73 करोड़  अवमुक्त भी कर दिया । मगर अभी तक किसी भी परियोजना से स्वच्छ पेयजल की धारा नहीं बह सकी जिसे लेकर गाँव के लोग परेशान हैं ।

भूमि विवाद में फंसी है सांसद आदर्श गाँव बड़हरामीर की परियोजना
सांसद आदर्श गाँव बड़हरामीर की पेयजल परियोजना भूमि विवाद में फंसी पड़ी है।यहाँ पूर्व व वर्तमान प्रधान की आपसी खींचतान में मामला फंस गया है। जब विभाग ने काम शुरू कराया तो दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हो गयी । तभी से मामला जस का तस पड़ा है।

इस संबंध में जल निगम के सहायक अभियंता एके अग्रवाल ने बताया कि ग्राम पंचायत कटहरा व गोपाला की पेयजल परियोजना शुरू हो गयी है। शेष पर निर्माण कार्य तेज कराया जा रहा है।

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*