समाचार

महिला ने बेटी के साथ फंदे पर लटक कर जान दी, छोटी बेटी की जान बची

गोरखपुर, 7 सितम्बर। बशारतपुर स्थित शक्तिनगर कॉलोनी में डेंटल चिकित्सक डॉ. सुभाष प्रजापति की पत्नी शोभा प्रजापति (35 साल) ने बेटी एंजल (12 साल) के साथ फंदे से लटकर आज आत्महत्या कर ली। शोभा ने अपने दो और बच्चों को फंदे से लटकाने की की कोशिश की लेकिन मौके पर पुलिस ने पहुंच कर एक बेटी को बचा लिया जबकि बेटे ने भागकर अपनी जान बचाई। मृतका की बहन का आरोप है कि पति की प्रताड़ना से तंग आकर शोभा ने बच्चों के साथ आत्महत्या की है।
शक्तिनगर कॉलोनी निवासी डॉ. सुभाष प्रजापति भटहट में क्लीनिक चलाते हैं। गुरुवार को सुबह नौ बजे डॉक्टर सुभाष क्लीनिक पर चले गए। घर में पत्नी शोभा, बड़ी बेटी एंजल, छोटी बेटी अराध्या और बेटा अथक के अलावा डॉक्टर के माता-पिता भी मौजूद थे। दोपहर बाद शोभा बड़ी बेटी और बेटे को स्कूल से लेकर घर पहुंची। इसके बाद उसने बेड रूम में तीन अलग-अलग फंदे तैयार किए। यह देख बेटा भाग निकला और छत पर जा छिपा। शोभा ने बेटे को आवाज देकर बुलाया और खोजने की कोशिश भी की लेकिन वह नहीं मिला। हालात देखने से ऐसा लग रहा था कि शोभा ने पहले बड़ी बेटी एंजल को फंदे से लटका दिया, फिर छोटी बेटी अराध्या को फंदे से बांध खुद फांसी लगाकर जान दे दी। छोटी बेटी का पैर बेड तक जा पहुंचा। शोभा ने आत्महत्या करने के पहले महराजगंज में अधिवक्ता अपनी बहन गंगा को फोन कर कहा कि वह आत्महत्या करने जा रही है। गंगा ने तत्काल इसकी सूचना महराजगंज पुलिस कंटोल रूम को दी। महराजगंज से यह सूचना गोरखपुर पुलिस को दी गई जिससे पुलिस वाले शोभा के घर पहुंच गए। पुलिस कर्मियों ने अराध्या को फंदे से तत्काल उतार लिया जिससे उसकी जान बच गई लेकिन एंजल और शोभा की तब तक मौत हो चुकी थी।