समाचार

मानकों और नियमों के उल्लंघन पर सीबीएसई ने पिलर्स स्कूल से सम्बद्धता वापस ली

गोरखपुर, 20 अप्रैल। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई ने मानकों के उल्लंघन की शिकायत सही पाए जाने पर गोरखपुर के पिलर्स पल्बिक स्कूल से सेकेण्डरी और सीनियर सेकेण्डरी लेवल की अस्थायी सम्बद्धता वापस ले ली है और वर्ष 2017-18 सेशन के लिए कक्षा 9, 10, 11 और 12 के लिए एडमिशन करने से मना कर दिया है।

बोर्ड ने वर्ष 2017-18 के कक्षा 10 और 12 के पंजीकृत छात्र-छात्राओं को परीक्षा देने की अनुमति दे दी है।
सीबीएसई ने अपने इस आदेश को अपनी वेबसाइट पर अपलोड भी किया है।
सीबीएसई को इस वर्ष जनवरी माह में शिकायत मिली थी कि पिलर्स पब्लिक स्कूल में सम्बद्धता के मानकों और नियमों का घोर उल्लंघन किया जा रहा है। इस शिकायतों में कहा गया था कि स्कूल में स्पोर्टस की सुविधा नहीं है और लाइब्रेरी के इंतजाम बदतरीन है। कक्षाओं में 40 के बजाय 60 से अधिक छात्र-छात्राएं पढ़ रहे हैं। क्वालीफाईड शिक्षक नहीं हैं और एक वर्ष से स्कूल में रेगुलर प्रिसपल भी नहीं हैं।
लैंड डाक्यूमेंट, एनओसी, एसएमसी रिकार्ड भी स्कूल के पास नहीं हैं। शिक्षकों का ईपीएफ नहीं जमा किया जाता है और रिजर्व फेंड भी मेंटेन नहीं है। स्कूल की वैबसाइट भी मानक के अनुरूप अपडेट नहीं है।

इन शिकायतों पर सीबीएसई ने स्कूल को कारण बताओ नोटिस जारी की। नोटिस पर दिए गए जवाब से सीबीएसई संतुष्ट नहीं हुआ और उसनेे अपनी एक टीम स्कूल के निरीक्षण के लिए भेजी। निरीक्षण टीम ने अपनी जांच में अधिकतर शिकायतें सहीं पायी। इसके बाद बोर्ड ने यह कार्रवाई की है। बोर्ड ने स्कूल को सीबीएसई का नाम किसी भी तौर पर इस्तेमाल नहीं करने को कहा है।