Templates by BIGtheme NET
Home » समाचार » मुख्यमंत्री का राशन, खनन, वन और गो माफियाओं के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही का निर्देश
c m meeting

मुख्यमंत्री का राशन, खनन, वन और गो माफियाओं के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही का निर्देश

गोरखपुर-बस्ती मण्डल के 7 जिलों के अफसरों के साथ मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक की

गोरखपुर, 27 मार्च । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 26 मार्च  को जीडीए सभागार में गोरखपुर-बस्ती मण्डल के प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ, अभियंत्रण, सिंचाई, राष्ट्रीय राजमार्ग, विकास, गन्ना एंव चीनी मिल आदि से संबंधित मण्डलीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री ने राशन, खनन, वन तथा गो माफियाओं के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही करने का निर्देश दिया।

उन्होने कहा कि राशन माफिया नेपाल से लेकर ब्लैक मार्केट में बेच दे रहे हैं इसलिए गरीबों को उनका राशन नही मिल पा रहा है। खनन माफियायों ने नदियों के बांधों के तलहटी तक खोद डाला है। वन माफिया पचासों साल पुराने कीमती लकड़ियों के पेड़ों की विभागीय सहयोग से अवैध कटाई कर रहे हैं जबकि गो माफिया दुधारू गायों एंव भैंसों का वध कर दे रहे हैं। उन्होंने सूचना तन्त्र को सक्रिय करने और राशन, खनन, वन तथा गो माफियाओं को मौके पर गिरफ्तार करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के गन्ना एंव चीनी आयुक्त से कहा कि प्रदेश की बन्द चीनी मिलों को चलाने तथा खराब चीनी मिलों की मरम्मत एंव नई चीनी मिलों की स्थापना की सम्भावनाओं का 15 दिन के अन्दर आकलन कराकर रिपोर्ट दें। गन्ना किसानों का चीनी मिलों पर लंबित धन का हिसाब किताब तत्काल बनावें एंव 15 दिन के अन्दर उनका भुगतान कराना सुनिश्चित करें। यह भी सुनिश्चित किया जाये कि नये पेराई सत्र में किसानों के गन्ना मूल्य का एक माह के अन्दर भुगतान हो जाये इसके लिए जो भी रणनीति बनाना हो या जो भी कार्यवाही करना हो वह तत्काल बना लिया जाये।

मुख्यमंत्री ने थानों पर भी विशेष सफाई कराने, एन्टी रोमियों स्क्वाड का सदुपयोग तथा अवैध स्लाटर हाउसों पर छापे डालकर उन्हें बन्द करने का निर्देश दिया।

बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खास निर्देश

-घुमक्कड़ जातियों का सर्वे कराकर शासन की समस्त योजनाओं से उन्हें लाभान्वित करने के लिए प्रोजेक्ट बनाकर कार्यवाही करें

– प्रदेश के वन टांगिया तथा मुसहर बाहुल्य गावों का सर्वे कराकर उन्हें राजस्व गांव घोषित करें और वहाँ शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, यातायात, सड़क, उनके लिए पक्के मकान, राशन कार्ड बनवाने, उस क्षेत्र में सरकारी राशन की दुकान खोलने, बिजली आदि सुविधाएं दी जाएँ

-नवरात्र में शक्तिपीठों एंव दुर्गा देवी के मंदिरों और वहाँ लाग्ने वाले मेले में शुद्ध पेयजल, सफाई, पुलिस सुरक्षा, शेल्टर गृह एंव अस्थायी शौचालयों कि व्यवस्था की जाए

– बरसात के दिनों में इंसेफेलाइटिस एंव अन्य घातक बीमारियों के रोकथाम के लिए नियमित सफाई एंव शुद्ध पेयजल हेतु विशेष रणनीति बनाकर तत्काल कार्यवाही शुरू कि जाए

– गांवों में जल संरक्षण के लिए बने पोखर एंव तालाबों की विशेष सफाई अभियान चलाकर उसे पीने एंव नहाने योग्य बनाएँ

-व्यस्त बाजारों में पुलिस अधिकारी एंव कर्मचारी प्रतिदिन डेढ़ से दो कि0मी0 पैदल घूमकर जनता में विश्वास पैदा करें

-निर्माण से जुड़े प्रोजेक्ट में गुण्डों, पेशेवर एंव अपराधिक छवि के व्यक्तियों से ठेकेदारी न कराई जाय और व्यक्ति कितना ही प्रभावशाली क्यों न हो, यदि वह सिफारिश या दबाव बनाने का प्रयास करे तो उसके खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज की जाय

– प्राथमिक स्वास्थ केन्द्रों एंव उच्च प्राथमिक स्वास्थ केन्द्रों पर चिकित्सक एंव पैरामेडिकल स्टाफ की उपस्थिति सुनिशित की जाए

-किसी जनपद में अगर भूख या बीमारी से किसी व्यक्ति की मौत हुई तो संबंधित जिलाधिकारी एंव सीएमओ दंडित होंगे

 

About गोरखपुर न्यूज़ लाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*