समाचार

मुख्यमंत्री के मंच पर अमन मणि की मौजूदगी चर्चा का विषय बनी

गोरखपुर, 29 अप्रैल। गोरखपुर विश्वविद्यालय परिसर में विकास परियोजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रम में पूर्व मंत्री अमर मणि त्रिपाठी के विधायक पुत्र अमन मणि की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मौजूदगी चर्चा का विषय बन गयी। अमन मणि ने मुख्यमंत्री को बुके देकर स्वागत किया और मंच पर भाजपा विधयकों के साथ बैठे।

अमन मणि अपनी पत्नी की हत्या के अभियोग का सामना कर रहे हैं और इस वक्त जमानत पर रिहा हैं। उनके पिता पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी और मां मधु मणि कवयित्री मधुमिता शुक्ल की हत्या में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं। दोनों इस वक्त गोरखपुर जेल में हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गोरखपुर के दो दिवसीय दौरे पर आये। मोहद्दीपुर के एक होटल में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की बैठक में शामिल होने के बाद वह गोरखपुर विश्वविद्यालय पहुंचे। यहाँ उन्होंने ऑडिटोरियम सहित कई विकास योजनाओं का शिलान्यास किया। यहाँ पर भाजपा के विधायकों, नेताओं ने वङ्का स्वागत किया। इसी दौरान अमन मणि मंच पर आये और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुके देकर स्वागत किया और फिर मंच पर लगी कुर्सी पर बैठ गए। सभा में उपस्थित लोग मंच पर अमन मणि को देख चौंक गए। कुछ ही देर में यह खबर टीवी चैनलों पर चलने लगी।

इस कार्यक्रम में और इसके पहले वाले कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी ने भाजपा की सरकार बनने के बाद कानून का राज कायम होने का दावा किया। यही नहीं उन्होंने अपराधियो को प्रदेश छोड़ देने की चेतावनी भी दी।

बाद में गोरखपुर जर्नलिस्ट्स प्रेस क्लब के पदाधिकारियों के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में उन्होंने मीडिया से नकारात्मकता को तवज्जो न देने और सकारात्मक कार्यों में सहयोग देने की अपील की।

लेकिन अमन मणि की मुख्यमंत्री के मंच पर मौजूदगी की खबर आज उनके सभी कार्यक्रमों पर भारी पड़ गई।
जिले की नौतनवां सीट सेे निर्दल चुनाव जीतने के बाद अमन मणि योगी आदित्यनाथ के साथ दूसरी बार देखे गए हैं। चुनाव समाप्त होने के बाद उन्होंने गोरखनाथ मंदिर जाकर योगी आदित्यनाथ से भेंट की थी और उन्हें मुख्यमंत्री पद के लिए सबसे योग्य बताया था।

Add Comment

Click here to post a comment