राज्य

मोदी-योगी सरकार की तानाशाही के खिलाफ लड़ेगी भाकपा माले-दीपंकर भट्टाचार्य

इलाहाबाद, 17 जुलाई। भाकपा माले के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा है कि मोदी-योगी सरकार देश और यूपी में तानाशाही कर रही है। अल्पसंख्यकों, दलितों, महिलाओं-नौजवानों पर जुल्म ढाहा जा रहा है। लोकतंत्र की हिफाजत के लिए जनता की एकता जरूरी है और भाकपा माले पूरी ताकत से इसके लिए काम कर रही है।

श्री भट्टाचार्य 17 जुलाई को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश एक खतरनाक दौर से गुजर रहा है। रेल में सफर करना खास कर अल्पसंख्यक समुदाय के लिए खतरनाक हो गया है। जुनैद की हत्या कर दी गई। इसके पहले मेट्रो ट्रेन में अल्पसंख्यक समुदाय के बुजुर्ग को सीट मांगने पर पाकिस्तान जाने को कहा गया। अभी यूपी में भी ट्रेन में इसी तरह की घटना हुई। इस तरह की घटनाएं स्वीकार्य नहीं है। यह घटनाएं अनायास नहीं हैं बल्कि  संघ-भाजपा द्वारा इसके लिए माहौल बनाया गया है। फासीवादी ताकतें भीड़ को हत्याओं के लिए निर्देशित कर रही है। इसके खिलाफ जोरदार प्रतिवाद जरूरी है। उन्होंने अमरनाथ यात्रियों पर हमले की निंदा करते हुए कहा इस घटना का काश्मीर में कड़ा प्रतिरोध हुआ है।

माले महासचिव ने रिजर्व बैंक के गवर्नर द्वारा नोटबंदी के दौरान बैंको में जमा हुए नोटों की गिनती नहीं बता पाने को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि यह स्थिति साबित करती है कि नोटबंदी की आड़ में बड़ा घोटाला गया है। उन्होंने जीएसटी को जनता पर जबर्दस्ती थोपा गया बताया और कहा कि इससे आम लोगों और छोटे व्यापारियों की दुश्वारियां बढ़ेंगी। कर सुधार के नाम पर अप्रत्यक्ष कर बढ़ाना ठीक नहीं है। जीएसटी में सोने पर 3 फीसदी और बिस्कुट व अन्य जरूरी वस्तुओं पर 18 फीसदी टैक्स बताता है कि इसके जरिये अमीरों को फायदा पहुँचाया गया है और गरीबो पर टैक्स का बोझ बढ़ाया गया है।

श्री भट्टाचार्य ने सुपर रिच लोगों की संपत्ति पर टैक्स लगाने और देश में एक कर्ज नीति की मांग करते हुए कहा कि एक तरफ अडानी को 70 हजार करोड़ का कर्ज दिया जा रहा है दूसरी तरफ किसानों की कुछ हजार और लाख के कर्ज के लिए जेल भेज जाता है। उन्होंने मंदसौर से शुरू हुई किसान यात्रा का समर्थन किया है और कहा कि पार्टी का किसान संगठन इसमें शामिल है।

यूपी की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि योगी सरकार ने प्रदेश को अल्पसंख्यक, दलित उत्पीड़न की प्रयोगशाला बना दिया है। सहारनपुर से मिर्जापुर तक दलितों पर सरकारी संरक्षण में हमला हुआ। इस सरकार का एजेंडा दलित, अल्पसंख्यक, महिला, नौजवानों का उत्पीड़न है। योगी सरकार ने शिक्षा के बजट में हजारों करोड़ का बजट कटौती कर अपना असली चेहरा दिखा दिया है।

माले महासचिव ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में माले के चार विधायकों ने मीरा कुमार को वोट दिया है। उप राष्ट्रपति चुनाव में पार्टी विपक्ष के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी का समर्थन करेगी।

Add Comment

Click here to post a comment