समाचार

सिसवा में मोबाइल स्नेचरों का आतंक, डेढ़ दर्जन लोगों की मोबाइल लूटी

बेख़ौफ़ स्नेचरों ने थाने के सामने भी लूटा मोबाइल

सिसवा बाजार ( महराजगंज), 2 अक्तूबर। कोठीभार थानाक्षेत्र के सिसवा कस्बा सहित आस पास स्थानों पर मोबाइल स्नेचरों का आतंक बढ़ गया है। मोबाइल स्नेचर अब तक डेढ़ दर्जन लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं और स्थानीय पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। स्नेचर इतने बेख़ौफ़ हैं कि उन्होंने थाना गेट व पुलिस चौकी के सामने लोगों के हाथों से मोबाइल छीनने की घटना को अंजाम दिया है।
कोठीभार थाना क्षेत्र में लोगों को बात करते समय उनके मोबाइल को बाइक सवार गिरोह द्वारा झपट्टा मारकर छीन ले भागने की घटनायें घट रही हैं। कोठीभार ग्रामसभा निवासी धर्मेन्द्र कुमार मद्धेशिया कस्बा से साईकिल द्वारा अपने गाँव जा रहा था। जैसे ही वह थानागेट के सामने पहुंचा, मोबाइल से बात करते समय ब्लू रंग की बाइक पर सवार दो युवकों द्वारा झपटा मार उसकी मोबाइल छीन ली गयी। इसी प्रकार रोडवेज बस स्टेशन निवासी सत्यनारायण प्रसाद चौहान से मोबाइल छिनने की घटना ब्लू कलर की मोटरसाइकिल सवार युवकों द्वारा उस समय कर ली गयी जब वे पुलिस चौकी के रास्ते पैदल बात करते हुए अपने घर जा रहे थे।

तीसरी घटना अमडीहा निवासी ओमप्रकाश चौहान के साथ घटी जब वे मोबाइल से बात कर रहे थे तो बाइक सवार युवकों ने उनका कॉलर पकड़ हाथ से मोबाइल छीनकर फरार हो गये। रोडवेज बस स्टेशन पर ठेला लगाने वाले शम्भू सांयकाल अपनी दुकान के सामने मोबाइल से बात कर रहे थे तो बाइक सवारों ने उनके मुंह पर मुक्का मार उनका मोबाइल छीन लिया। इसी प्रकार चोखराज विद्यालय के पास नहर पर मुन्ना पासवान की चाय की दुकान से स्नेचरों ने उनकी मोबाइल छीन ली। अमरपुरवा निवासी प्रमोद मणि पुरानी पुलिस चौकी के तरफ से मोबाइल से बात करते अपने घर आ रहे थे तो बाइक सवार युवकों द्वारा उनकी भी मोबाइल छीन ली गयी। रोडवेज बस स्टेशन रोड पर अशोक यादव और अशोक राजभर से मोबाइल छिनैती की घटना को स्नेचरों द्वारा अंजाम दिया जा चुका है।

कस्बा सहित ग्रामीण क्षेत्र में आये दिन घटी मोबाइल स्नेचिंग की घटना से नागरिकों में भय व्याप्त है। भुक्तभोगियों की मानें तो इन घटनाओं में मोबाइल स्नेचरों ने सबसे ज़्यादा नीले रंग की बाइक का प्रयोग किया है। कौन हैं ये बाइक सवार स्नेचर? इसका पता अभी तक पुलिस नहीं लगा पायी है।
इस सम्बन्ध में थानाध्यक्ष आनन्द कुमार गुप्ता का कहना है कि उन्हें घटना की जानकारी है। तहरीरों के आधार पर कुछ मोबाइल के आईईएमआई नम्बरों को सर्विलांस पर लगाया गया है। शीघ्र ही इसका पर्दाफाश कर दिया जायेगा।⁠⁠⁠⁠