समाचार

मदरसों में भी होंगीं मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं

-सपा सरकार में उ. प्र. मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं राजकीय विद्यालयों में कराये जाने का लिया गया था निर्णय

-इस निर्णय से नाराज थे मदरसे 
-25 अप्रैल से 8 मई तक होंगी मदरसा शिक्षा परिषद् की वार्षिक परीक्षाएं

सैयद फरहान अहमद
गोरखपुर, 20 अप्रैल। योगी सरकार ने पूर्व कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां के फैसले को बदलते हुए मदरसा शिक्षा परिषद् की परीक्षाएं मदरसों में भी कराने का निर्णय लिया हैं। इससे मदरसों व परीक्षार्थियों में काफी खुशी हैं।

सरकार के इस निर्णय के पीछे यह भी कारण है कि इस समय राजकीय व इंटर कालेज में बोर्ड परीक्षाओं की कापियां जांची जा रही हैं। इसलिए इन्हें परीक्षा केंद्र बनाने में दिक्कत थी।

मदरसा बोर्ड द्वारा संचालित मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल , फाजिल सत्र 2017 की परीक्षाओं के लिए जिले में 7 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। जिसमें राम जतन यादव इंटरमीडिएट कालेज भटहट को छोड़कर सभी परीक्षा केंद्र मदरसों में हैं। तीन परीक्षा केंद्र शहर में व चार परीक्षा केंद्र शहर में बनाये गये हैं । पिछली बार जिले में 12 परीक्षा केंद्र बनाये गये थे जिसमें एक भी मदरसा शामिल नहीं था। परीक्षाएं राजकीय विद्यालयों मे हुई थीं।

इस बार मदरसा अंजुमन इस्लामियां खूनीपुर में 10 मदरसों के 1492, मदरसा दारुल उलूम हुसैनिया इमामबाड़ा दीवान बाजार में 11 मदरसों के 1178, मदरसा अनवारुल उलूम गोला बाजार में 8 मदरसों के 586, मदरसा अरबिया शमसुल उलूम सिकरीगंज में 5 मदरसों के 670, राम जतन यादव इंटरमीडिएट कालेज भटहट में 9 मदरसों के 345, मदरसा जियाउल उलूम पुराना गोरखपुर में 7 मदरसों के 185 व मदरसा अरबिया मिसबाहुल उलूम असौजी बाजार में 3 मदरसों के 148 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे।
उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद् द्वारा संचालित परीक्षाएं  मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल, फाजिल की परीक्षाएं 25 अप्रैल – 8 मई तक चलेंगी जिसमें जनपद के 4604 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। पिछली बार करीब 6000 छात्र-छात्राएं परीक्षा में बैठे थें। राजकीय विद्यालयों में केंद्र बनाये जाने की वजह से ही छात्रों की तादाद इस बार घट गई हैं।

इस बार जिले में मुंशी की परीक्षा में 962, मौलवी में 1098, कामिल में 1495, आलिम में 729 व फाजिल में 320 छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे। परीक्षा में जिले के 53 मदरसे शामिल होंगे। परीक्षा दो पालियों में होगी। प्रथम पाली की परीक्षा सुबह 8 से 11 बजे तक और द्वितीय पाली की परीक्षा दोपहर 2-5 बजे तक होगी। प्रवेश पत्र व परीक्षा स्कीम मदरसा शिक्षा परिषद् की वेबसाइट www.upbme.edu.in पर उपलब्ध हैं जिसे परीक्षार्थी डाउनलोड कर सकते हैं।

 पूर्व सपा सरकार ने उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद् द्वारा संचालित परीक्षाएं प्रदेश में स्थित राजकीय इण्टर कालेजों और राजकीय हाई स्कूलों को परीक्षा केन्द्र बनाकर संचालित करवायीं थीं । मदरसे के इतिहास में पहली बार एक भी मदरसे को परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया था। यह निर्णय 24 फरवरी 2016 को विधान भवन में प्रदेश के नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आजम खां की अध्यक्षता में आयोजित माध्यमिक शिक्षा परिषद् तथा मदरसा शिक्षा परिषद् के अधिकारियों की बैठक में लिया गया था। उक्त फैसले के विरोध में आल इण्डिया टीचर्स एसोसिएशन मदारिसे अरबिया ने कहा था कि मदरसों के साथ यह नाइंसाफी है। इस फैसले से मदरसा इंतेजामिया में आक्रोश फैल गया था। काफी विरोध प्रदर्शन भी हुआ था। मदरसों को फिर से परीक्षा केंद्र बनायें जाने से मदरसों में काफी उत्साह हैं।⁠⁠⁠⁠

Leave a Comment