जनपद

रासायनिक खाद के प्रयोग से बचें किसान : डीएम

कृषि विभाग ने मेले में विभिन्न फसलो के उत्पाद व बीज के स्टाल लगाये

सिसवा (महराजगंज), 6 जून। निचलौल विकास खंड के ग्राम सभा वसूली स्थित कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में आयोजित किसान मेले में कृषि संबंधी सरकारी योजनाओं के विषय में विस्तार से किसानों को बताया गया।मेले में कृषि उत्पाद के स्टाल भी लगाये गये।

यह आयोजन सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन (आत्मा) योजनान्तर्गत किया गया था।

इस मौके पर डीएम वीरेंद्र कुमार सिंह  ने कहा कि खेतों को रासायनिक खाद से बचाइए और जैविक खाद व गोबर का प्रयोग कर किसान रोग रहित फसल का उपज करें। उन्होंने पंजाब का उदाहरण देते हुए कहा कि एक समय था जब पंजाब के किसान पूरे देश का पेट भरने के लिए सक्षम थे परंतु उन किसानों ने रासायनिक खाद का अंधाधुंध प्रयोग कर अपने भूमि का उर्वरा शक्ति नष्ट कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओ का किसानों को सीधे लाभ पहुंचे इसके लिए प्रशासन द्वारा हर तरह से व्यवस्था किया जा रहा है।

उप कृषि निदेशक एच एन सिंह ने शासन के कृषि संबंधी योजनाओं को विस्तार से उल्लेख किया।

इसी दौरान प्रगतिशील कृषक चन्द्रशेखर उर्फ़ लल्ले सिंह, जितेंद्र बहादुर उर्फ़ नथुनी सिंह, नागेन्द्र प्रसाद त्रिपाठी ने योजनाओं और अधिकारियों के खामियों की ओर इशारा करते हुए सुधार की मांग की जिसको लेकर उप कृषि निदेशक असहज महसूस करने लगे जिस पर जिलाधिकारी ने हस्तक्षेप करते हुए प्रश्नों को रुकवाया।

सिसवा के विधायक प्रेमसागर पटेल

सिसवा के विधायक प्रेमसागर पटेल

इसके बाद सरस्वती स्वयं सेवा समूह की अध्यक्ष शालिनी, पूर्वांचल ग्रामीण सेवा समिति के सचिव ने समूह से जुड़ने के लिए विस्तार से बताया।और समूह से होने वाले लाभ को किसानों के समक्ष प्रस्तुत किया।

 क्षेत्रीय विधायक प्रेम सागर पटेल ने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है जिसके लिए सरकार किसानों के हितकारी योजनाएं बनाती है जिससे किसानों को ज़्यादा से ज़्यादा लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि लखनऊ में कृषि विभाग के डायरेक्टर से मुलाकात कर महराजगंज के लिये योजनाओं का जानकारी ली है जिसेसे इस क्षेत्र को लाभ मिल सके। उन्होंने किसानों से अपील है कि अनुदान सुविधा लेनी है तो पहले रजिस्ट्रेशन कराये। उन्होंने कहा कि सिसवा में बीज गोदाम की के लिए कृषिमंत्री से बीज गोदाम निर्माण की स्वीकृती ले ली गई है।साथ ही कृषि विभाग के अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि बलहिखोर में स्थित बीज गोदाम को जिसे कुछ लोगों ने कब्ज़ा कर रखा है उसे दो दिन के अंदर खाली कराया जाय चाहे उसके लिए प्रशासन का सहयोग क्यों ना लेना पड़े।

इस दौरान पशुपालन अधिकारी डॉ कमल सिंह, जिला उद्यान अधिकारी, डीसी मनरेगा, परियोजना अधिकारी, किसान,बैजनाथ सिंह, ज़हीर खान,श्यामबदन उपाध्याय, मनीष शर्मा,मनोज पांडेय, अनुराग पाण्डेय, मनोज सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Comment