समाचार

रेलवे प्रेस में जिंदा जला कर्मचारी, सूदखोरों पर जला कर मार डालने का आरोप

गोरखपुर।  पूर्वोत्तर रेलवे महाप्रबंधक कार्यालय के सामने रेलवे प्रिंटिंग प्रेस में मंगलवार को टेक्नीशियन संजय कुमार यादव की जल कर मौत हो गई. दोपहर डेढ़ बजे लंच करने के दौरान प्रेस की पहली मंजिल पर रेल कर्मियों ने संजय कुमार यादव को आग की लपटों से घिरा देखा. रेल कर्मियों ने उसे बचने की कोशिश की लेकिन कामयाब न हुए. संजय की मौके पर ही मौत हो गई.
मृत रेलकर्मी के पुत्र ने हत्या का आरोप लगते हुए चार लोगों के खिलाफ कैंट थाने में तहरीर दी है. आरोपी सूदखोरी के धंधे से जुड़े हैं.
संजय यादव महानगर के कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित पुर्दिलपुर का रहने वाला था.  वह पूर्वोत्तर रेलवे प्रेस में टेक्नीशियन तृतीय के पद पर तैनात था. मंगलवार को दोपहर 1:30 बजे लंच के समय रेलकर्मी आफिस के बाहर चले गए. उसी वक्त आफिस की गैलरी में संजय यादव जलते हुए दिखा. उसे बचने की कोशिश हुई लेकिन मौके पर ही उसकी मौत हो गई.
घटनास्थल पर जुटे लोग
घटनास्थल पर जुटे लोग
मौके पर पहुंचे पुलिस के आलाधिकारियों ने मृतक संजय यादव के परिजनों को बुलवाकर शव की शिनाख्त कराई. सूचना मिलते ही पुत्र आशुतोष और सगे सम्बन्धी मौके पर पहुँच गए. आशुतोष ने चार लोगों पर हत्या का आरोप लगते हुए कहा कि ये लोग लगातार उसके पिता को धमकी दे रहे थे. आरोपी सूदखोरी के धंधे से जुड़े हैं और इनमें एक सिपाही है. आशुतोष का कहना था कि लंच टाइम में आरोपियोंने उसके पिता को जलाकर मार डाला.
कुछ रेलकर्मियों ने भी सूदखोरों की डिमाण्ड न पूरी करने वाले तमाम ऐसे कर्मचारियों के नाम पुलिस की डायरी में दर्ज कराए जो अब तक हत्या या आत्महत्या के शिकार हो चुके हैं।
सूदखोरी का मामला रेल परिसर के लिए कोई नया नहीं है। फिलहाल इस मसले पर रेल का कोई भी अधिकारी कुछ कहने का तैयार नहीं दिखा। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही तफ्तीश का दायरा बढ़ाया जायेगा।

 

Add Comment

Click here to post a comment