विद्यार्थियों एक दूसरे से तुलना न कर उनकी क्षमता का विकास करें -फादर पाया

छितौनी (कुशीनगर ), 16 नवम्बर.  विद्यार्थियों का सही मार्ग दर्शन करके उनके व्यक्तित्व का विकास किया जा सकता है.  विद्यार्थियों की एक दूसरे से तुलना न कर उनकी क्षमता को विकसित कर अपने परिश्रम का फल की उम्मीद रखे. वे अपने कर्म के अनुसार ही जाने जायगे.

यह बातें कैथोलिक धर्म प्रांत के चांसलर फादर पाया पिल्ली ने बेलवनिया स्थित ज्ञानोदय विद्यालय के वार्षिक उत्सव में कही, उन्होंने कहा कि इस विद्यालय का उद्देश्य अज्ञान रूपी अंधकार में ज्ञानरूपी प्रकाश को भरना है. इस विद्यालय के छात्रों में प्रेम ज्ञान सेवा की भावना तथा मानवीय विकास पर बल दिया जाता है अर्थात बच्चों का सम्पूर्ण विकास करना है जिससे उनका मानसिक शारीरिक सामाजिक और आध्यात्मिक विकास हो. ईश्वर और मानव की सेवा करने में उन्हें दक्ष बनाना इस विद्यालय का परम उद्देश्य है.

इस अवसर पर विद्यालय परिवार के छात्र-छात्राओं ने स्वास्थ्य और पर्यावरण पर अपने विचार प्रकट किये और सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया. इस अवसर पर खड्डा तहसील के उप जिलाधिकारी गणेश प्रसाद, छितौनी के यूनियन के चेयरमैन राजकुमार सिंह ने भी अपने विचार प्रकट किए. इस अवसर पर दरगौली के प्रधान फूल बदन सरोज पूर्व प्रधान ओमप्रकाश गुप्त डॉक्टर राज गोविंद गुप्ता रामाशंकर कुशवाहा ओमप्रकाश तिवारी आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment

Skip to toolbar