समायोजन निरस्त के सदमें से महिला शिक्षामित्र की मौत

गोरखपुर , 20 जनवरी. प्राथमिक विद्यालय रक्षवापार मे कार्यरत पिपराइच ब्लाक की समायोजित शिक्षामित्र रीना शुक्ला का शुक्रवार तीन बजे देहान्त हो गया । शिक्षा मित्रों के अनुसार 25 जुलाई के सुप्रीम कोर्ट द्वारा समायोजन निरस्त किये जाने से वह परेशां थीं और उनकी इसी सदमे के कारन मौत हुई है.
रीना शुक्ला के पति बेरोजगार हैं तथा इनके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं । इनके पति किसी काम से शहर आये हुए थे और जब अपराह्न घर पहुंचे तो कमरे में  पत्नी रीना शुक्ला को मृत पाया। इस घटना से उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ काफ़ी दुखी है और संघ के प्रदेश अध्यक्ष गाजी इमाम आला को इस घटना की सूचना दी दी गई । संघ के पदाधिकारियों ने इंदिरा नगर स्थिति संघ के कैंप कार्यालय पर शोक संवेदना प्रकटकर मृत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखकर ईश्वर से प्रार्थना की । इस अवसर पर रामनगीना निषाद  ,बेचन सिंह ,अशोक चंद्रा ,लालधर निषाद  ,अविनाश कुमार ,सुशील कुमार सिंह ,रविंद्र चौधरी ,सुनील शर्मा ,राकेश कुमार ,रामदयाल यादव  ,राजनाथ यादव  ,रामनिवास  , राजीव गुप्ता ,बृजभूषण सैनी  ,सतीश  आदि शिक्षामित्र शामिल रहे ।

इस मौके पर शिक्षा मित्रों ने कहा कि केंद्र व राज्य की निष्ठुर सरकारों को जरा भी शिक्षामित्रों के प्रति संवेदना और शर्मिंदगी नहीं बची है । न जाने अभी कितने मौतों का इंतज़ार है । आज सीएम के गृहजनपद में एक शिक्षामित्र ने दम तोड़ा । पूरे प्रदेश में कमोबेश यही हाल है । सैकड़ो शिक्षामित्र मौत को गले लगा चुके हैं ।

Leave a Comment

Skip to toolbar