समाचार

सामाजिक कार्यकर्ता रीता कौशिक महिला शक्ति शिरोमणि एवार्ड से सम्मानित

गोरखपुर, 10 मार्च. सामाजिक कार्यकर्ता रीता कौशिक को आठ मार्च को अन्तरराष्टीय महिला दिवस पर नई दिल्ली में महिला शक्ति शिरोमणि एवार्ड से सम्मानित किया गया। नई दिल्ली के वीके कृष्णमेनन भवन सभागार में आयोजित कार्यक्रम में दिल्ली के पूर्व राज्यपाल तेजेन्द्र खन्ना ने उन्हें यह सम्मान प्रदान किया।

इस कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली राष्ट्रीय समता स्वतंत्र मंच एवं अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच द्वारा किया गया था। इस कार्यक्रम में देश की 51 महिलाओं केा महिला शक्ति शिरोमणि एवार्ड दिया गया। इस कार्यक्रम में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. मोहम्मद शबीर, नेपाल के उपराष्ट्रपति के विशिष्ट सलाहकार महावीर प्रसाद टोरडी आदि उपस्थित थे।

रीता कौशिक दो दशक से गोरखपुर, कुशीनगर सहित कई अन्य जिलों में दलितों, महिलाओं, युवाओं के सशक्तीकरण और बच्चों के विकास के मुद्दे पर कार्य कर रही है। वह कुशीनगर के किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य हैं। इसके अलावा कुशीनगर जिले की जिला स्वास्थ्य समिति, पीसीपीएनडीटी एक्ट की जिला एडवाईजरी बोर्ड की भी सदस्य हैं। वह कुशीनगर चाइल्ड लाइन की निदेशक हैं। साथ यूपी की दलित एलायंस की अध्यक्ष हैं।
उनकी संस्था सामुदायिक कल्याण एवं विकास संस्थान गोरखपुर और कुशनीनगर में दलितों विशेषकर मुसहरों की आजीविका, शिक्षा, स्वास्थ्य पर कार्य कर रही है।

कुशीनगर जिले के अहिरौली की मूल निवासी राीता कौशिक ने गोरखपुर विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा प्राप्त की है। वह सामुदायिक कल्याण एवं विकास संस्थान से जुड़ने के पहले गोरखपुर इन्वायरमेंटल एक्शन ग्रुप और आक्सफाम के साथ भी कार्य कर चुकी है।